Move to Jagran APP

EPF खाते में हो गई है गलती तो घर बैठे सुधार सकते हैं, जानिए कैसे

2014 में यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) की शुरुआत के बाद से ईपीएफ से संबंधित सभी प्रक्रियाओं को आसान बना दिया गया है। यूएएन 12 अंकों का एक अनूठा कोड है यह सदस्यों के पीएफ खातों को जोड़ता है

By NiteshEdited By: Sun, 28 Mar 2021 03:34 PM (IST)
Mistakes In EPF Account How You Can Correct Them

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। रिटायरमेंट फंड बॉडी, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के ग्राहक कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) खातों में की गई गलतियों को सुधार सकते हैं। यूजर्स ईपीएफओ रिकॉर्ड में नाम, जन्म तिथि और अन्य डिटेल जैसे कोई भी सुधार ऑनलाइन कर सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: शादी के बाद पैसे की दिक्कत आ रही है तो ये 5 बातें आपके काम की हैं

वर्ष 2014 में यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) की शुरुआत के बाद से ईपीएफ से संबंधित सभी प्रक्रियाओं को आसान बना दिया गया है। यूएएन 12 अंकों का एक अनूठा कोड है, यह सदस्यों के पीएफ खातों को जोड़ता है और ऑनलाइन उनके खाते के प्रबंधन में उनकी मदद करता है।

यह भी पढ़ें: Credit Limit बढ़ाने के लिए आपके पास भी आते हैं फोन, जानिए लिमिट बढ़ाने के फायदे और नुकसान

गलतियों को सुधारने के लिए ग्राहकों का यूएएन एक्टिव होना चाहिए। उनके पास वैध आधार कार्ड होना भी जरूरी है।

पीएफ अपडेट करने की प्रक्रिया दो स्तरों पर होती है, एक कर्मचारी स्तर पर और फिर नियोक्ता में।

ईपीएफ खाते में सुधार के ये हैं तरीके

यह भी पढ़ें: Mobile App के जरिये लोन लेने से फर्जीवाड़े की आशंका ज्यादा, इन बातों का रखें ख्याल

स्टेप 1: ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट - epfindia.gov.in पर जाएं और लॉग इन करें।

स्टेप 2: मैनेज पर क्लिक करें और फिर संशोधित डिटेल चुनें।

स्टेप 3: आधार संख्या दर्ज करें।

स्टेप 4: नाम लिंग, जन्म तिथि अपडेट करें। ये सभी सूचनाएं आधार के साथ मेल खानी चाहिए।

स्टेप 5: एक बार अनुरोध सबमिट करने के बाद, इसे नियोक्ता द्वारा सत्यापित किया जाना चाहिए। वेरिफिकेशन रिक्वेस्ट ऑटोमेटिक रूप से नियोक्ता के पास जाता है।

यह भी पढ़ें: आपके Aadhaar का कहां-कहां हुआ है इस्तेमाल, घर बैठे ऐसे लगाएं पता

बता दें कि ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स EPFO पोर्टल के जरिए अपना EPF बैलेंस भी जान सकते हैं। आइए इसका स्टेप बाय स्टेप प्रॉसेस जानते है।