नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। आपका पर्सनल क्रेडिट आपके भविष्य के लिहाज से हर हाल में जरूरी है। सबसे जरूरी बात यह है कि आपको अपना क्रेडिट हर हाल में सही रखना होगा। चाहे आपको लोन लेना हो या फिर आप क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कर रहे हों, आपका पर्सनल क्रेडिट हर हाल में अच्छा होना चाहिए। हम इस खबर में आपके पर्सनल क्रेडिट को बेहतर बनाए रखने के कुछ जरूरी टिप्स बता रहे हैं जिनकी जानकारी आपको होनी चाहिए।

आपका क्रेडिट स्कोर क्या है?

अगर आप लोन लेना चाहते हैं तो कंपनियां आपसे क्रेडिट या सिबिल स्कोर पूछती है। अगर आपका यह स्कोर अच्छा होता है तो आपको आसानी से लोन मिल जाता है। अगर यह स्कोर खराब होता है तो आपकी लोन ऐप्लिकेशन रिजेक्ट भी हो सकती है। इसलिए अपने क्रेडिट स्कोर को ठीक रखना जरूरी है। क्रेडिट स्कोर तय करने में लेट बिल पेमेंट का सबसे बड़ा योगदान होता है। क्रेडिट कार्ड बिल या कर्ज की लेट पेमेंट करने पर क्रेडिट स्कोर में 30 फीसद असर पड़ता है। इसलिए अपने क्रेडिट स्कोर को सही रखने के लिए समय पर बिल और लोन की किस्त चुकाते रहें। क्रेडिट स्कोर को 24 महीने की क्रेडिट हिस्ट्री के हिसाब से तैयार किया जाता है।

अगर आपने क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान देरी से किया है या आपका ईएमआई बाउंस हो गया है तो आपको डिफॉल्टर घोषित किया जा सकता है जिससे आपके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। समय पर कर्ज चुकाने को लेकर 30 फीसद सिबिल स्कोर बनता है। इसलिए आपको अपने क्रेडिट कार्ड की क्रेडिट लिमिट और बकाया रकम को कम रखना चाहिए और क्रेडिट कार्ड से ज्यादा लोन नहीं लेना चाहिए। बेहतर होगा कि आप कम से कम क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करें और अगर कर भी रहे हैं तो उसके बिल का भुगतान समय पर कर दें।

क्रेडिट कार्ड का सही इस्तेमाल: आज के समय में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल न सिर्फ लेनदेन का महत्वपूर्ण माध्यम बना हुआ है बल्कि आज यह लोगों का एक पसंदीदा विकल्प भी है। काफी सारे लोग ऐसे होते हैं जिन्हें कम समय के लिए लोन की जरुरत पड़ती है ऐसे में क्रेडिट कार्ड उनके काम आता है। वहीं पेमेंट एप्स के इस्तेमाल में भी तेजी देखने को मिली है। अगर आपके पास एक से अधिक क्रेडिट कार्ड है तो इनका सही तरीके से इस्तेमाल करके आप ज्यादा छूट प्राप्त कर सकते हैं। ज्यादातर ई कॉमर्स कंपनियां क्रेडिट कार्ड कंपनियों से टाई-अप रखती हैं।

अगर आप क्रेडिट कार्ड यूजर हैं तो आपके दिमाग में रिवॉर्ड पॉइंट जैसी चीज हमेशा बनी रहनी चाहिए। प्रत्येक क्रेडिट कार्ड होल्डर के पास अपना रिवॉर्ड प्रोग्राम होता है और अधिकांश कार्डों पर प्रत्येक रिवॉर्ड पॉइंट के लिए 0.2 से रुपये से लेकर 0.75 के बीच मूल्य मिलता है। जानकारों के मुताबिक, आप क्रेडिट कार्ड पर मिले हुए रिवॉर्ड पॉइंट को कैश में सेटल कर लें तो ज्यादा अच्छा रहेगा।

अपने खर्च का विश्लेषण करें: आप महीने में अपने खर्च का विश्लेषण करें। कोशिश करें कि आप कम से कम खर्च कर ज्यादा से ज्यादा पैसा बचाएं। आप चाहें तो एक बजट तैयार कर उस हिसाब से खर्च करें। आप महीने में कुछ समय निकालें ताकि आप अपने बजट की समीक्षा कर सकें। इसे नियमति तौर पर अपडेट भी करते रहें।

ईएमआई में करें पेमेंट: आज के समय में ज्यादा से ज्यादा लोग खरीदारी कर उसका भुगतान ईएमआई में कर रहे हैं। अगर आप भी ईएमआई में पेमेंट करते हैं तो यह काफी सही है। लेकिन ध्यान रखें कि आपका भुगतान समय पर हो जाए। इससे आपका सिबिल स्कोर भी बढ़िया रहेगा।

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप