नई दिल्ली, पीटीआइ। Online food delivery platform Zomato का 9,375 करोड़ रुपये का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) आज यानी बुधवार को खुलेगा। ऐसी माना जा रहा है कि कंपनी के आईपीओ को वैश्विक संस्थागत निवेशकों से अच्छा रिस्पांस मिलेगा। जोमैटो भारत की यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स की लंबी सूची में आईपीओ लाने वाली पहली कंपनी है।

IPO आज खुलकर 16 जुलाई को बंद होगा। इसका मूल्य दायरा 72 से 76 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है। कंपनी की आईपीओ से 9,375 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। Zomato को जैक मा के एंट ग्रुप कंपनी का समर्थन है।

उल्लेखनीय है कि Zomato पहली ऑनलाइन फूड एग्रीगेटर है, जो आईपीओ ला रही है। इसके आईपीओ के आधार पर जोमैटो का मूल्यांकन 64,365 करोड़ रुपये बैठता है। लोकप्रिय IPO खुलने के बाद कुछ निवेशकों के सामने सर्वर या नेटवर्क में दिक्कतें झेलनी पड़ती हैं। इसकी वजह यह होती है कि बहुत कम अवधि में डिमांड बहुत अधिक होता है।

यह भी पढ़ें: आपके Aadhaar का कहां-कहां हुआ है इस्तेमाल, घर बैठे ऐसे लगाएं पता

मार्च, 2020 में एसबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट सर्विसेज (10,341 करोड़ रुपये) का आईपीओ आया था उसके बाद इसे दूसरा सबसे आईपीओ माना जा रहा है। यह भारतीय रेलवे वित्त निगम (आईआरएफसी) के जनवरी में आए आईपीओ से आगे निकल जाएगा।

उल्लेखनीय है कि इस साल अप्रैल में, Zomato ने Sebi के साथ प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश के लिए आवेदन किया था।

मालूम हो कि Paytm Money ने नया फीचर शुरू किया है, जिसमें यूजर्स IPO के मार्केट में आने से पहले ही उसके लिए एडवांस में अप्लाई कर पाएंगे। Paytm Money ने इसकी शुरुआत Zomato के IPO से की है।

डिजिटल पेमेंट स्टार्टअप वन मोबिक्विक सिस्टम्स ने IPO के जरिये 1,900 करोड़ रुपये जुटाने को Sebi के पास शुरुआती दस्तावेज जमा कराए हैं। 

इसके अलावा जन स्मॉल फाइनेंस बैंक को IPO के जरिए धन जुटाने के लिए सेबी की मंजूरी मिल गई है।

Edited By: Nitesh