मुंबई, प्रेट्र : बैंक्रप्सी बिल पास होने से मॉरीशस के साथ संधि में संशोधन को लेकर चिंता घटी तो निवेशकों ने गुरुवार को लिवाली की। इसकी वजह से बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स 193.20 अंक चढ़कर 25790.22 पर बंद हुआ। बीते दिन यह 175.51 अंक लुढ़का था। इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 51.55 अंक बढ़कर 7900 का मनोवैज्ञानिक स्तर पार कर गया। इस दिन यह 7900.40 अंक पर बंद हुआ।

राज्यसभा ने बुधवार को काफी समय से लंबित इनसॉल्वेंसी व बैंक्रप्सी कोड 2016 को पारित कर दिया। इसके कारण निवेशकों में आर्थिक सुधारों की गाड़ी आगे बढ़ने की आशा बढ़ी है। इसी उम्मीद में कर चोरी रोकने के लिए मॉरीशस के साथ दोहरा कराधान निवारण संधि में संशोधन को लेकर डर कुछ कम हुआ है। इसके अलावा औद्योगिक उत्पादन और महंगाई के आंकड़ों के सकारात्मक रहने की आशा में भी उन्होंने लिवाली की। बीएसई का तीस शेयरों वाला सेंसेक्स 25684.60 अंक पर मजबूत खुला।

सत्र के दौरान यह सूचकांक नीचे में 25620.27 और ऊंचे में 25827.03 अंक के दायरे में रहा। इस दिन कंज्यूमर ड्यूरेबल, आइटी, रियल्टी और टेक्नोलॉजी कंपनियों के शेयरों को लिवाली का ज्यादा लाभ मिला। इसके उलट बीएसई में कैपिटल गुड्स के शेयरों पर बिकवाली की मार पड़ी। सेंसेक्स की तीस कंपनियों में 21 के शेयर फायदे में रहे, जबकि नौ में नुकसान बंद हुए।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी 50 ऑप्शन को दुनिया का सबसे सक्रिय कारोबार वाला डेरिवेटिव कांट्रेक्ट घोषित किया गया है। व‌र्ल्ड फेडरेशन ऑफ ग्लोबल एक्सचेंजेज और इंटरनेशनल ऑप्शंस मार्केट एसोसिएशन की ओर से किए गए ताजा सर्वे में इसे अव्वल नंबर पर पाया गया है। इसी तरह फ्यूचर इंडस्ट्री एसोसिएशन की ओर से किए गए अध्ययन में भी निफ्टी 50 को सबसे सक्रिय ट्रेडिंग वाला ऑप्शन बताया गया है।

शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 175 अंक गिरकर 25,597 के स्तर पर बंद

Edited By: Manish Negi