नई दिल्ली, पीटीआइ। होटल श्रंखला ओयो ने भारत और दक्षिण एशिया में अपने नियमित कर्मचारियों को एक अगस्त से पूरा वेतन देने की मंगलवार को घोषणा की। कोविड-19 संकट के चलते कंपनी ने कर्मचारियों के वेतन में कटौती या बिना वेतन की छुट्टी पर भेजने जैसे कदम उठाए थे। 

कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा कि आठ लाख रुपये तक की वार्षिक आय वाले कर्मचारियों की वेतन कटौती एक अगस्त से वापस ली जा रही है। बाकी कर्मचारियों की वेतन कटौती भी अक्टूबर 2020 से चरणबद्ध तरीके से वापस ली जाएगी। कंपनी ने 22 अप्रैल को भारत मे अपने कुछ कर्मचारियों को 4 मई से बिना वेतन की छुट्टी पर भेजने की घोषणा की थी। उन्हें चार महीने के लिए छुट्टी पर भेजा गया था। वहीं सभी कर्मचारियों के अप्रैल-जुलाई 2020 के वेतन में 25 फीसद कटौती के लिए भी कहा था। 

यह भी पढ़ें: IRDAI ने जीवन बीमा कंपनियों को ई-पॉलिसी जारी करने की दी अनुमति

कर्मचारियों ने कहा कि 25 फीसद वेतन कटौती का 12.5 फीसद अक्टूबर से मिलना शुरू होगा जबकि बाकी बचा 12.5 फीसद दिसंबर 2020 से। कंपनी के भारत और दक्षिण एशिया कारोबार के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रोहत कपूर ने कर्मचारियों के साथ एक टाउनहॉल बैठक में यह घोषणा की।

प्रवक्ता ने कपूर के हवाले से कहा कि हमें इन कठिन समय से बचने के लिए OYO ने लड़ाई का एक मौका दिया है इसके हमारे सभी कर्मचारी आभारी हैं। संगठन ने अच्छे समय के साथ-साथ कठिन समय में भी अटूट समर्थन किया है। कपूर ने ओयो का बिजनेस COVID के पूर्व हालात की तरफ ले जाने के लिए सभी को साथ आकर काम करने के लिए कहा।

मई में जब वेतन में कटौती की घोषणा की गई थी, तो कंपनी ने कहा था कि इस तरह से कार्रवाई की योजना बनाई गई थी कि प्रस्तावित वेतन कटौती के बाद किसी भी कर्मचारी के लिए निर्धारित मुआवजा 5 लाख रुपये से कम नहीं है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस