लंदन। मुंबई के रीयल एस्टेट समूह लोढ़ा डेवलपर्स ने ब्रिटेन में 3,000 करोड़ रुपये (30 करोड़ पौंड) का निवेश किया है। समूह ने सेंट्रल लंदन स्थित मैकडॉनल्ड हाउस को कनाडा सरकार से खरीदा है। इस भवन में कनाडा का दूतावास है। इस फैसले के बाद भारतीय कंपनी ब्रिटेन के रीयल एस्टेट बाजार में उतर गई है। एक साल के दौरान लोढ़ा समूह द्वारा यह तीसरी बड़ी खरीद है।

कंपनी ने डीएलएफ समूह से मुंबई में 17 एकड़ जमीन 2,727 करोड़ और अमेरिकी सरकार से शहर के एल्टामाउंट रोड पर स्थित वाशिंगटन हाउस को 375 करोड़ रुपये में खरीदा था। समूह के एमडी अभिषेक लोढ़ा ने बताया कि हमने कनाडा सरकार के साथ कांट्रेक्ट पर हस्ताक्षर किए हैं।

क्या दो साल तक कोई नहीं खोलेगा इन फ्लैटों का ताला?

कंपनी ब्रिटिश बाजार में मौजूद संभावनाओं का फायदा उठाना चाहती है। मैकडॉनल्ड हाउस लंदन के बेहद महत्वपूर्ण इलाके में स्थित है। हमने अपना फोकस लंदन और मुंबई पर रखने का निर्णय लिया है। हमने कनाडा सरकार को 300 करोड़ रुपये की पहली किस्त का भुगतान कर दिया है। बाकी की रकम मार्च तक दे दी जाएगी। लोढ़ा के पास करीब 14,500 करोड़ रुपये की नकदी है।

फर्जी स्कीमों में डूबी राशि एक बार गई तो वापस नहीं मिलेगी!

मैकडॉनल्ड हाउस की विकास योजनाओं पर कंपनी ने फिलहाल कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। अभिषेक ने कहा कि वहां वाणिज्यिक या रिहायशी इमारत बनाई जा सकती है। यदि हम रिहायशी इमारत बनाने का फैसला लेते हैं तो इसका मूल्य 45 करोड़ पौंड (4,500 करोड़ रुपये) हो जाएगा। ब्रिटेन में कनाडा के उच्चायुक्त गॉर्डन कैंपबेल ने गुरुवार रात को इस समझौते की पुष्टि कर दी थी। कैंपबेल ने कहा कि लोढ़ा समूह जल्द ही इस जगह का अधिग्रहण कर लेगा। इससे कंपनी को 1.5 लाख स्क्वायर फीट जमीन विकास के लिए मिलेगी।