नई दिल्ली। भारत ने विश्व भर की गिरती अर्थव्यवस्था के बीच अपने को बेहद मजबूत साबित किया है। जनवरी से मार्च माह के बीच भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में तेजी देखी गई है और हम 7.5 की विकास दर को हासिल कर पाने में भी सफल हुए हैं। इससे भी बड़ी बात यह है कि भारत इन तीन माह के दौरान अपने स्थिति को लगातार सुधार या फिर तेजी की तरफ अग्रसर कर रहा है। इसके चलते भारत विश्व का सबसे तेजी से वृद्धि करने वाला देश भी बन गया है।

विश्व के 10 सबसे अमीर देशों में शामिल हुआ भारत, कनाड़ा आस्ट्रेलिया को पछाड़ा

यह आंकड़ा उस वक्त और भी महत्वपूर्ण हो जाता है जब हम अपने पड़ोसी देश चीन से इसकी तुलना करते हैं। चीन की आर्थिक विकास दर लगातार नीचे जा रहा है। विकास दर के मामले में चीन सात फीसद से भी नीचे फिसल कर 6.7 फीसद पर आ गया है। केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बनी भाजपा की सरकार ने लगातार इसमें तेजी लाकर दिखाई है। इससे यह बात भी साफ होती है कि वह जिन नीतियों के साथ आगे बढ़ रहे हैं वह पूरी तरह से सार्थक हैं। वह यह नीतियां जनता जनार्दन के उत्थान और महंगाई दर को कम करने में भी सहायक साबित हुई हैं।

महज 18 दिनों में ब्राजील सरकार को दूसर बड़ा झटका, मंत्री ने दिया इस्तीफा

गौरतलब है कि पिछले वर्ष वित्तमंत्री अरुण जेटली ने इस तरह के आंकड़े की उम्मीद जताई थी और कहा था कि भारत विकास दर में चीन को कहीं पीछे छोड़ देगा। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक रॉयटर के सर्वे में बताया गया है कि पिछली तिमाही में भारत का सकल घरेलू उत्पाद 7.3 फीसद था जो इस तिमाही में बढ़कर 7.5 फीसद हो गया है। ऐसा तब हुआ है जब विश्व की अर्थव्यवस्था में लगातार गिरावट का रुख देखा गया है।

गिरावट के बाद भी चीन दुनिया की एक बड़ी अर्थव्यवस्था: जेटली

Posted By: Kamal Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस