नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। डाबर इंटरनेशनल लिमिटेड में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल देखने को मिल रहा है। कंपनी के मौजूदा सीईओ कृष्ण कुमार चुटानी ने कंपनी से इस्तीफा दे दिया है। उनकी जगह राघव अग्रवाल को कंपनी का नया सीईओ नियुक्त किया गया है। अग्रवाल ने बीआईटीएस पीलानी से ग्रेजुएशन किया है, जबकि आईआईएम लखनऊ से एमबीए किया हुआ है।

डाबर इंटरनेशनल लिमिटेड, भारत में शेयर बाजार में लिस्टिड डाबर इंडिया लिमिटेड की सहायक कंपनी है। कंपनी की वेबसाइट के अनुसार, मुख्यालय दुबई में यूनाइटेड अरब अमीरात में स्थित है। ये कंपनी डाबर इंडिया लिमिटेड का अतंरराष्ट्रीय कारोबार संभालती है। कंपनी का व्यापार दुनिया के 120 से अधिक देशों में फैला हुआ है।

भारत की चौथी सबसे बड़ी एफएमजीसी कंपनी

कंपनी की वेबसाइट के मुताबिक, डाबर इंडिया लिमिटेड भारत की चौथी सबसे बड़ी एफएमसीजी कंपनी है। कंपनी की आय करीब 10,800 करोड़ रुपये और बाजार मूल्यांकन 1,00,000 करोड़ रुपये से अधिक है। इसके डाबर खुद को दुनिया की सबसे बड़ी आयुर्वेदिक और नेचुरल हेल्थ केयर कंपनी होने का दावा करती है। कंपनी के पास 250 से अधिक हर्बल/आयुर्वेदिक उत्पादों का पोर्टफोलियो है।

कंपनी के कारोबार के ब्रांड्स मध्य पूर्व के देशों के साथ, सार्क देशों, अफ्रीका, अमेरिका, यूरोप और रूस में काफी लोकप्रिय है। कंपनी के कुल आय का 27 प्रतिशत हिस्सा विदेशों से आता है।

डाबर इंडिया की शुरूआत

डाबर इंडिया 137 साल पुरानी आयुर्वेदिक कंपनी है। कंपनी की बर्मन परिवार द्वारा 1884 में कोलकाता में शुरू की गई थी। 1896 में अपनी पहली विनिर्माण यूनिट को स्थापित किया था। 

ये भी पढ़ें-

India's Services PMI: सर्विस सेक्टर की ग्रोथ तीन महीने के उच्चतम स्तर पर, रोजगार के भी बढ़ रहे हैं मौके 

जल्द पूरा करें अपना घर बनाने का सपना, इतने रुपये सस्ता हुआ सरिया, कम लागत में बन जाएगी बात

 

Edited By: Abhinav Shalya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट