नई दिल्ली। करोड़ों रुपये के सारधा चिटफंड घोटाले की जांच कर रही सीबीआइ ने पश्चिम बंगाल व ओडिशा पुलिस से कांड से संबंधित सभी दस्तावेज 31 जुलाई तक जमा कराने को कहा है। सूत्रों के अनुसार दोनों ही राज्यों की पुलिस ने सीबीआइ की इस डेडलाइन तक दस्तावेज सौंपने के लिए हामी भर दी है।

दरअसल, मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआइ को सौंपी गई थी। बावजूद इसके दोनों राज्यों की पुलिस अब तक कांड से जुड़े सभी दस्तावेज एजेंसी को उपलब्ध नहीं करा सकी है। सूत्रों के अनुसार तय समय तक दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराए जाने पर जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सीबीआइ कार्रवाई भी कर सकती है। इतना ही नहीं कुछ अधिकारियों द्वारा कई महत्वपूर्ण दस्तावेज नष्ट किए जाने के मामले में भी सीबीआइ कार्रवाई का मन बना रही है।

हालांकि सीबीआइ का मानना है कि पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा दर्ज किए गए हजारों मामलों के सभी दस्तावेज मिलना मुश्किल है। सारधा कांड का मुख्य आरोपी सुदीप्त सेन फिलहाल सीबीआइ के कब्जे में है।

पढ़ें: मोहनलालगंज कांड: सबको चाहिए सीबीआइ जांच

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप