वाशिंगटन। अमेरिका ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कामकाज की जमकर तारीफ की। उसने कहा कि मोदी ने सत्ता संभालने के 15 महीने में विदेशी कंपनियों का स्वागत कर महत्वपूर्ण प्रगति की है। किंतु साथ ही कहा कि भारतीय नौकरशाही की लालफीताशाही निवेश में अभी भी बाधा बनी हुई है।

अमेरिकी राष्ट्रपति के विशेष सहायक और राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में दक्षिण एशिया मामलों के वरिष्ठ निदेशक पीटर आर. लेवोय ने मोदी सरकार का आकलन करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि भारत में रेड कार्पेट स्वागत और लालफीताशाही साथ-साथ चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि इतने कम समय में इतने सारे मुद्दों पर पर इतनी जल्दी प्रगति किसी भारतीय सरकार ने कभी नहीं की। सचमुच में यह उल्लेखनीय है।

उन्होंने कहा कि भारत की नौकरशाही की दुनियाभर में एक खास प्रतिष्ठा है। उसका अपना मानदंड है जिसकी दुनियाभर में बराबरी नहीं है। यद्यपि भारत प्रगति कर रहा है, इसलिए हमें विश्वास है कि पूरी सरकार अपनी संभावनाओं और प्रधानमंत्री की सोच को जल्द पूरा करने के अवसरों को समझती है।

मजबूत स्थिति में भारत-अमेरिका संबंध
लेवोय ने कहा कि मई 2014 में मोदी के प्रधानमंत्री पद संभालने के बाद से अभी भारत और अमेरिका संबंध सर्वश्रेष्ठ स्थिति में है। यह अब तक की सबसे मजबूत स्थिति में है। उन्होंने कहा कि हमारे नेता राष्ट्रपति बराक ओबामा और प्रधानमंत्री मोदी भविष्य की ओर देखते हैं। दोनों देश क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय समस्याओं का मिलकर हल करने के लिए काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जनवरी में ओबामा के नई दिल्ली दौरे के समय की गई 70 घोषणाओं में से अधिकांश को पूरा कर लिया गया है। हालांकि इस संबंध में और काम किए जाने की जरूरत है। प्रधानमंत्री मोदी के संयुक्त राष्ट्र दौरे के दौरान ओबामा से मुलाकात की संभावना की बात को वह टाल गए। उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि मोदी की न्यूयार्क और कैलिफोर्निया यात्रा को लेकर अमेरिका उत्साहित है।

मोदी की विदेश यात्रा की प्रशंसा
लेवोय ने पड़ोसी देशों के साथ द्विपक्षीय और सीमा मसलों को लेकर मोदी सरकार के रुख की तारीफ की। इस संबंध में उन्होंने बांग्लादेश के साथ सीमा विवाद हल का विशेष रूप से उल्लेख किया। सत्ता में आने के बाद से रिकॉर्ड संख्या में मोदी के विदेश दौरे का उल्लेख किया। एक तरह से उन्होंने प्रधानमंत्री की विदेश नीति का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि आज भारत मोदी के नेतृत्व में दुनियाभर में अपने हितों को आगे बढ़ाने को लेकर प्रतिबद्ध है।

बिजनेस सेक्शन की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Shashi Bhushan Kumar