नई दिल्ली, आइएएनएस। राष्ट्रीय विमानन कंपनी Air India के 56 कर्मचारियों को 14 जुलाई तक कोविड महामारी के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी है। केंद्र सरकार ने गुरुवार को संसद को यह जानकारी दी। लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक लिखित जवाब में नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जनरल (आरईटीडी) वी.के. सिंह ने कहा कि एयरलाइन के कुल 3,523 कर्मचारी कोविड -19 से प्रभावित हुए हैं। इसमें से 56 कर्मचारियों ने 14 जुलाई, 2021 तक महामारी के कारण अपनी जान गंवा दी।

यह भी पढ़ें: कोरोना महामारी की दूसरी लहर से एक करोड़ लोग हुए बेरोजगार, 97 प्रतिशत परिवारों की आय घटी: रिपोर्ट

वी.के. सिंह ने सदन को बताया कि एअर इंडिया ने कोविड-19 से प्रभावित कर्मचारियों और उनके परिवारों के हितों की रक्षा के लिए कई उपाय किए हैं, जिसमें कोविड-19 से प्रभावित कर्मचारियों को 17 दिनों का क्वारंटाइन अवकाश (पेड लीव) शामिल है।

यह भी पढ़ें: आधार असली है या नकली, आसानी से लगा सकते हैं पता

उन्होंने बताया कि एअर इंडिया को कर्मचारी संघों से कोविड-19 प्रभावित कर्मचारियों को उचित मुआवजा और अन्य फायदा देने के लिए कई रीप्रेजेंटेशन प्राप्त हुए हैं। कंपनी की ओर से कोविड-19 प्रभावित कर्मचारियों या परिवारों की देखभाल के लिए विभिन्न स्थानों पर कोविड केंद्र खोले गए हैं।

यह भी पढ़ें: आधार से आपका पैन लिंक है या नहीं, घर बैठे ऐसे करें चेक

कोविड -19 के कारण एक स्थायी या निश्चित अवधि के संविदा कर्मचारी की मृत्यु पर उनके परिवारों को क्रमश: 10,00,000 रुपये और 5,00,000 रुपये का मुआवजा मिलता है।

यह भी पढ़ें: Mobile App के जरिये लोन लेने से फर्जीवाड़े की आशंका ज्यादा, इन बातों का रखें ख्याल

आकस्मिक या कॉन्ट्रैक्ट श्रमिकों के परिवारों को 90,000 रुपये या 2 महीने के वेतन का मुआवजा दिया जाता है। कर्मचारियों और उनके परिवारों की ओर से भुगतान किए जाने पर टीकाकरण शुल्क की प्रतिपूर्ति दी जा रही है।

यह भी पढ़ें: आपके Aadhaar का कहीं गलत इस्तेमाल तो नहीं हुआ, घर बैठे ऐसे लगाएं पता

 

Edited By: Nitesh