नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) जो कि देश का सबसे बड़ा कर्जदाता बैंक हैं पहला कदम और पहली उड़ान नाम से नाबालिगों के लिए दो सेविंग अकाउंट खोलने की सुविधा देता है। पहला कदम और पहली उड़ान अकाउंट ऐसे बच्चों के लिए है जिनकी उम्र 18 वर्ष से कम है।

पहला कदम खाते को 18 वर्ष से कम उम्र के नाबालिग बच्चे के लिए खोला जा सकता है जबकि पहली उड़ान खाता 10 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों के लिए है। यह जानकारी एसबीआई की आधिकारिक वेबसाइट पर दर्ज है। वहीं इन दोनों खातों में मंथली एवरेज बैलेंस (एमएबी) मेंटेन करने की जरूरत भी नहीं होती है। आसान शब्दों में कहा जाए तो इन दोनों खातों तो जीरो बैलेंस पर संचालित किया जा सकता है।

पहला कदम और पहली उड़ान खाते से जुड़ी अहम बातें जो आपको जाननी चाहिए:

योग्यता: इन दोनों खातों को खोलने की योग्यता निम्न प्रकार है।

  • पहला कदम: 18 वर्ष से कम उम्र के किसी भी बच्चे के नाम पर यह खाता खुलवाया जा सकता है, लेकिन इसे बच्चे के माता-पिता या अभिभावक की ओर से साझा रुप से संचालित किया जा सकता है।
  • पहली उड़ान: यह खाता 10 वर्ष से अधिक आयु के नाबालिग के नाम पर खुद उसकी ओर से खोला जा सकता है जो स्वयं हस्ताक्षर कर सकता है।

मोड ऑफ ऑपरेशन: इन खातों का संचालन निम्म प्रकार से होता है...

  • पहला कदम: इस खाते को माता-पिता एवं अभिभावक की ओर से साझा रुप से या फिर माता-पिता एवं अभिभावक की ओर से एकल रुप से संचालित किया जा सकता है।
  • पहली उड़ान: पहली उड़ान खाते को एकल रुप से संचालित किया जा सकता है।

एटीएम-कम डेबिट कार्ड: इन दोनों खातों में एटीएम-कम डेबिट कार्ड की सुविधा भी मिलती है।

  • पहला कदम: पहला कदम सेविंग अकाउंट में बच्चे की तस्वीर लगा एटीएम-कम डेबिट कार्ड मिलता है। इसकी विदड्रॉअल लिमिट या पीओसी लिमिट 5000 रुपये प्रतिदिन की होती है।
  • पहली उड़ान: पहला कदम की ही तरह पहली उड़ान खाते में भी बच्चे की तस्वीर लगा एटीएम-कम डेबिट कार्ड मिलता है और इसमें भी विदड्रॉअल लिमिट या पीओसी लिमिट 5000 रुपये प्रतिदिन की होती है।

इंटरनेट बैंकिंग: इन दोनों खातों में प्रतिदिन 5000 रुपये के लेनदेन की अनुमति होती है। हालांकि इसमें सुविधाएं सीमित होती है। इन दोनों खातों से इंटरनेट बैंकिंग की मदद से बिल्स का भुगतान और डिमांड के साथ ही इंटरनेट बैंक फंड ट्रांस्फर (एनईएफटी) की भी सुविधा मिलती है।

चेक बुक की सुविधा: इन दोनों ही खातों में चेक बुक की भी सुविधा दी जाती है......

  • पहला कदम: इस खाते में अभिभावक की देखरेख में 10 चेक वाली चेकबुक अभिभावक को दी जाती है।
  • पहली उड़ान: अगर नाबालिग हस्ताक्षर करने की सूरत में होता है तो 10 चेक वाली चेकबुक जारी की जाती है।

ब्याज दर: अगर इन खातों पर मिलने वाली ब्याज दर की बात करें तो इस पर अन्य बचत खातों की ही तरह समान ब्याज दर उपलब्ध करवाई जाती है। वहीं इन दोनों खातों में नॉमिनेशन की सुविधा भी मिलती है।

यह भी पढ़ें: SBI सेविंग प्लस अकाउंट: जानिए कितना मिलता है ब्याज और मेंटेन करना होता है कितना बैलेंस

Posted By: Praveen Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप