नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) देश का सबसे बड़ा कर्जदाता बैंक है। एसबीआई अपने ग्राहकों को तमाम तरह का अकाउंट खोलने की सुविधा देता है, जिसमें पैसों की बचत के साथ ही उसे बढ़ाने का विकल्प मिलता है। एसबीआई का सेविंग प्लस अकाउंट भी उन्हीं अकाउंट्स में से एक है, जो कि मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट अकाउंट से लिंक होते हैं।

एसबीआई के सेविंग प्लस अकाउंट में कोई भी सरप्लस अमाउंट जो कि एक सीमा से अधिक होता है वो खुद-ब-खुद फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) में ट्रांसफर हो जाता है। एसबीआई के मुताबिक इस खाते को 1000 रुपये के गुणकों में खोला जा सकता है।

एसबीआई के सेविंग प्लस अकाउंट के बारे में 10 बातें जो आपको जाननी चाहिए:

  • एसबीआई के सेविंग प्लस अकाउंट को हर वो व्यक्ति खोल सकता है जो कि बैंक में सेविंग अकाउंट खोलने के योग्य है।
  • इस खाते को एकल व्यक्ति या फिर साझा रूप से संचालित किया जा सकता है।
  • एसबीआई के सेविंग प्लस अकाउंट में मंथली एवरेज बैलेंस (एमएबी) की अनिवार्यता लागू होती है। मंथली एवरेज बैलेंस की अनिवार्यता शहरी, अर्ध-शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में अलग अलग होती है। जैसे कि मेट्रो में 3000 रुपये, अर्बन क्षेत्रों में 3000 रुपये, सेमी-अर्बन क्षेत्रों में 2000 रुपये और रुरल क्षेत्रों में 1000 रुपये निर्धारित है।
  • एसबीआई के सेविंग प्लस अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर वही है जो कि एसबीआई के सेविंग अकाउंट पर मिलती है। एसबीआई इस खाते में 1 करोड़ रुपये तक की जमा पर 3.5 फीसद की सालान दर से ब्याज दर मुहैया करवाता है। वहीं 1 करोड़ से ऊपर की सेविंग डिपॉजिट पर आपको 4 फीसद की दर से ब्याज दर उपलब्ध करवाई जाती है।
  • इस सेविंग बैंक अकाउंट में 25,000 रुपये से ऊपर की राशि फिक्स्ड डिपॉजिट में ट्रांसफर हो जाती है जो कि न्यूनतम 10,000 रुपये होती है और ये 1000 रुपये के गुणकों में होती है।
  • इसका मतलब यह हुआ कि मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट अकाउंट (एमोडी) में ट्रांसफर के लिए न्यूनतम थ्रेसहोल्ड लिमिट 35,000 रुपये की है।
  • इसमें जमा की मियाद 1 से 5 वर्षों की होती है।
  • सेविंग बैंक अकाउंट होल्डर्स को दी जाने वाली हर सेवा जैसे कि एटीएम कार्ड, मोबाइल बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग और एसएमएस अलर्ट जैसी सुविधाएं भी एसबीआई के सेविंग प्लस अकाउंट में उपलब्ध होती हैं।
  • वहीं मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट्स पर लोन की सुविधा भी उपलब्ध होती है।
  • ग्राहक एसबीआई के सेविंग प्लस अकाउंट की मदद से अपनी सेविंग में और इजाफा कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: SBI ऑनलाइन के जरिए PPF में कैसे करें निवेश, जानिए वो सब कुछ जो आपके लिए जरूरी है

Posted By: Praveen Dwivedi