Move to Jagran APP

Bihar Famous Mango: क्या चंपारण के जर्दालु आम को मिलेगा GI Tag? डिप्टी CM सम्राट चौधरी ने लगाई मुहर

नौतन के प्रगतिशील किसान राघव प्रसाद द्वारा दो दिन पूर्व राजभवन में आयोजित आमोत्सव में पश्चिम चंपारण के जर्दालु आम की प्रदर्शनी लगाए जाने और इसकी सराहना मिलने के साथ इस दिशा में पहल शुरू हो गई है। नेताओं एवं शीर्ष पदाधिकारियों की सराहना के बाद किसान राघोशरण प्रसाद ने जर्दालु आम को जीआई टैग दिलाने की मांग की है।

By Shashi Mishra Edited By: Rajat Mourya Thu, 20 Jun 2024 02:10 PM (IST)
चंपारण के जर्दालु आम को जीआई टैग दिलाने का मुद्दा राजभवन में उठा। (फाइल फोटो)

प्रदीप दुबे, नौतन। Champaran Famous Mango GI Tag चंपारण के जर्दालु आम की खुशबू व स्वाद किसी अन्य प्रजाति में नहीं है। इसकी विशेषताओं को लेकर इस प्रजाति के आम को जीआई टैग मिलने की उम्मीद बढ़ गई है।

नौतन के प्रगतिशील किसान राघव प्रसाद द्वारा दो दिन पूर्व राजभवन में आयोजित आमोत्सव में पश्चिम चंपारण के जर्दालु आम की प्रदर्शनी लगाए जाने और इसकी सराहना मिलने के साथ इस दिशा में पहल शुरू हो गई है।

नेताओं एवं शीर्ष पदाधिकारियों की सराहना के बाद किसान राघोशरण प्रसाद ने जर्दालु आम को जीआई टैग दिलाने की मांग की है। उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी, विजय सिन्हा, कृषि सचिव संजय अग्रवाल, कृषि मंत्री मंगल पांडेय व राज्यपाल के सचिव ने इस दिशा में पहल करने की बात कही।

कार्यक्रम में प्रगतिशील किसान को उपमुख्यमंत्री ने सम्मानित भी किया। राजभवन से बेतिया लौटे किसान ने बताया कि उनकी मांग पर सबने हामी भरी।

प्रदर्शनी में जिले से ले गए थे 15 प्रजाति के आम

प्रगतिशील किसान राजभवन में आयोजित प्रदर्शनी में जिले के जर्दालु सहित 15 प्रजाति के आम ले गए थे। इनमें जर्दालु, आम्रपाली, बंबइया, स्वर्ण रेखा, हिमसागर, अरुणिमा प्रमुख थे।

बैकुंठवा के किसान नई तकनीक अपनाकर बागवानी कर रहे हैं। उन्हें कई बार विभाग व सरकार द्वारा फसलों के उत्पादन के लिए सम्मानित किया जा चुका है। राजभवन में आमोत्सव प्रदर्शनी में सम्मान मिलना गर्व की बात है। - शैलेंद्र कुमार सिंह प्रखंड विकास पदाधिकारी, नौतन

ये भी पढ़ें- Metro in Bihar: बिहार के 4 और जिलों में चलेगी मेट्रो, पढ़ लीजिए पूरी लिस्ट यहां; यात्रियों को होगी सुविधा

ये भी पढ़ें- NEET Exam Paper Leak: नीट परीक्षा धांधली में 'बंगला' खोलेगा राज, समस्तीपुर के सिकंदर पर कसा शिकंजा; जांच हुई तेज