Move to Jagran APP

पहले फोड़ीं दोनों आंखें, मन नहीं भरा तो... स्कूल गया स्वर्ण व्यवसायी का बेटा अब कभी नहीं लौट सकेगा घर; 4 गिरफ्तार

Bettiah Murder News बिहार के पश्चिमी चंपारण से लापता हुए स्वर्ण व्यवसायी के पुत्र आशीष कुमार को अपराधियों ने मौत के घाट उतार दिया है। इस मामले में चार छात्रों को गिरफ्तार किया गया है जो आशीष के सहपाठी हैं। आरोपितों नें आशीष की हत्या करने के बाद फोन कर पिता से 20 लाख रंगदारी की मांग भी की थी।

By Jagran NewsEdited By: Aysha SheikhPublished: Fri, 13 Oct 2023 09:33 AM (IST)Updated: Fri, 13 Oct 2023 09:33 AM (IST)
पहले फोड़ डाली दोनों आंखें, मन नहीं भरा तो... स्कूल गया स्वर्ण व्यवसायी का बेटा कभी नहीं लौट सकेगा घर

जागरण संवाददाता, बेतिया (पश्चिमी चंपारण)। कुमारबाग ओपी क्षेत्र के रानीपुर रमपुरवा निवासी स्वर्ण व्यवसायी नगनारायण साह के पुत्र आशीष कुमार (14) का अपराधियों ने अपहरण किया। अब सूचना मिली है कि पुत्र की हत्या कर दी गई है।

गुरुवार की रात 10 बजे के करीब कुमार बाग स्टील प्लांट के पीछे अवस्थित एक पोखर से अगवा छात्र का शव बरामद किया गया था। पुलिस ने रात में ही शव का पोस्टमार्टम कराया और परिजनों को सौंप दिया है।

इस मामले में गिरफ्तार किए गए चार छात्रों में दो आशीष के सहपाठी हैं, जबकि दो कुमारबाग हाई स्कूल के ही पूर्ववर्ती छात्र हैं। छात्र के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

पढ़ाई करने अपने विद्यालय गया था मृतक

उल्लेखनीय है कि बीते 11 अक्टूबर को आशीष पढ़ाई करने अपने विद्यालय कुमारबाग हाई स्कूल गया था। छुट्टी के बाद भी घर नहीं लौटने पर उसकी खोज शुरू की गई। उसका बैग और साइकिल स्कूल में ही थी। शाम करीब सात बजे आशीष के पिता के मोबाइल पर फोन आया।

फोन करने वाले ने 20 लाख रंगदारी की मांग की। परिजनों की सूचना पर पुलिस हरकत में आई। एसपी डी अमरकेश स्वयं घटना की जांच करने के लिए पहुंचे। छात्रों से पूछताछ की। हालांकि, पुलिस अभी हत्या के कारण का पर्दाफाश नहीं कर रही है।

हत्यारों ने हत्या से पूर्व छात्र की फोड़ दी आंख

गिरफ्तार छात्रों से पुलिस पूछताछ कर रही है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, आशीष के सहपाठी दो छात्र उसे बुलाकर ले गए थे। कुमार बाग स्टील प्लांट के पीछे पहले से दो-तीन अपराधी मौजूद थे। उन्होंने झाड़ी में बांधकर छात्र की बेरहमी से पिटाई की थी।

हत्या से पूर्व आशीष की आंख निकाल ली थी। आशीष के दोनों हाथ बांधकर पिटाई की थी। पीट-पीट कर हत्या करने के बाद शव को पोखर में फेंक दिया और झाड़ी से ढक कर फरार हो गए थे। उसके बाद आशीष के पिता को फोन कर 20 लाख की फिरौती मांगी थी।

फिरौती की रकम मांगने वाला सिम और मोबाइल बरामद

गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने मोबाइल और सिम को भी बरामद कर लिया है। सिम मनुआपुल ओपी क्षेत्र के शेख धुरवा के ताहिर हुसैन के नाम से निर्गत है। ताहिर ने वह सिम तीन माह पूर्व गिरफ्तार एक अपराधी छात्र को दिया था।

ये भी पढ़ें -

Bihar Weather: सर्दी आने के मिलने लगे संकेत, जानिए बिहार के मौसम को लेकर क्या बोले मौसम विज्ञानी

संजय झा ने याद दिलाए रेल मंत्री के रूप नीतीश कुमार के दिन, बोले- तब कम होती थी रेल दुर्घटनाएं और अब…


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.