Move to Jagran APP

बिहार में भीषण गर्मी का कहर जारी, पश्चिमी चंपारण में 43 डिग्री के पार पहुंचा तापमान; एसी कूलर की तेज हुई डिमांड

पश्चिमी चंपारण समेत पूरा बिहार भीषण गर्मी (Bihar Weather Today) की चपेट में है। स्कूलों में छात्रों-शिक्षकों के बेहोश होने व चुनाव ड्यूटी में तैनात जवानों की तबीयत बिगड़ने की खबरें आ रही हैं। इन सबके बीच गुरुवार को पश्चिमी चंपारण का अधिकतम तापमान (West Champaran Weather) 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भीषण गर्मी और भयंकर लू की वजह से पश्चिमी चंपारण में आपदा की स्थिति बन गई है।

By Madhusudan Kumar Edited By: Mohit Tripathi Thu, 30 May 2024 05:10 PM (IST)
भीषण गर्मी ने बढ़ाई कूलर व एसी की डिमांड। (सांकेतिक फोटो)

जागरण संवाददाता, बेतिया। पश्चिमी चंपारण समेत पूरा राज्य इन दिनों भीषण गर्मी की चपेट में है। तापमान 43 डिग्री के पार पहुंच चुका है। भीषण गर्मी और भयंकर लू की चपेट से जिले (West Champaran Weather Today) में आपदा की स्थिति बन गई है।

गुरुवार को गर्मी के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस दौरान अधिकतम तापमान (West Champaran Temperature) 43 डिग्री और न्यूनतम तापमान 30 डिग्री पर था। इस वजह से लोगों को हीटवेव का सामना करना पड़ा।

तापमान में अचानक बढ़ोतरी के कारण गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल के ओपीडी विभाग में गुरुवार को हजारों की संख्या में भीड़ रही। अस्पताल प्रबंधक मो. शहनवाज ने बताया कि 1350 मरीजों का इलाज ओपीडी में किया गया।

बाजार में कूलर व एसी की जबरदस्त मांग

जनता सिनेमा चौक स्थित कूलर व्यवसायी मनीष कुमार ने बताया कि बाजार में 2500 रुपए से लेकर 20 हजार रुपए कीमत के कूलर उपलब्ध हैं। बढ़ती गर्मी को देखते हुए घरों में फ्रिज की डिमांड भी बढ़ी है।

इस बार कूलर निर्माता कंपनियों ने घरों के लिए जम्बो कूलर का भी प्रोडक्शन किया है, अब तक जम्बो कूलर शादी समारोह में उपयोग आते रहे है और इनके खरीदार टेंट हाउस वाले ही अधिक रहते थे, लेकिन इस बार जम्बो कूलर का मिनी रूप भी कंपनियों ने बाजार में निकाला है, जिसे लोगों ने अपने घरों के लिए जमकर खरीदा है।

बाजार में मीडियम कूलर और साइलेंट कूलर की डिमांड अधिक है। पंखों की भी मांग काफी बढ़ी हुई है। एसी यदि आप कम कैपिसिटी और कम स्टार वाला लेंगे तो 20 हजार रुपये में भी आ जाएगा। हालांकि अच्छी क्वॉलिटी वाले ब्रांडेड एसी एक लाख रुपये में भी बिक रहे हैं।

गर्मी के कारण अधिकांश दुकानें रहीं बंद

युवा व वृद्ध किसी प्रकार छाते या गमछा का प्रयोग कर धूप से बचने का प्रयास करते रहे। लेकिन, सबसे विकट स्थिति का सामना बच्चों को करना पड़ा। नंगे पांव व बिना चप्पल के जमीन पर पांव पड़ने से बच्चों को दिन में ही तारे दिखाई पड़ने लगे।

अत्याधिक धूप उमस भरी गर्मी के कारण शहर की अधिकांश दुकानें बंद रही। चौक-चौराहा सुनसान रहा। अन्य दिनों की अपेक्षा ऑटो भी नहीं चली। इस कारण राहगीरों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

लू से बचने का उपाय

यदि किसी कारण तेज गर्मी में घर से बाहर निकलना पड़े तो नींबू पानी या इलेक्ट्राल पीकर निकले। शरीर में फ्लूइड की की मात्रा को पूरा करने के लिए सिर्फ ताजे पानी पर निर्भर ना रहें। बल्कि ठंडा दूध और नारियल पानी जैसे देसी पेय जरूर पीएं।

यह भी पढ़ें: बिहार में भीषण गर्मी का कहर, 14 लोगों ने दम तोड़ा, 337 बच्चे बीमार; 8 जून तक स्कूलों को बंद रखने का आदेश

Heatwave Alert: आसमान से बरस रही 'आग', दुधारू पशु भी परेशान; विभाग ने जारी की एडवाइजरी