जासं, छपरा : बहुद्देशीय परियोजनाओं से किसानों की हालत सुधार में सारण का मेगा सोलर प्लांट कारगर सिद्ध हो सकता है। यहां चंवर में मछली और उसके ऊपर बिजली प्रोजेक्ट के माध्यम से किसानों की किस्मत संवारने की तैयारी चल रही है। इस प्रोजेक्ट से जिले के हरदिया चंवर को जगमग करने की तैयारी है। राज्य सरकार का ऊर्जा विभाग यहां मेगा सोलर प्लांट लगाने के प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है।

सोनपुर अनुमंडल में नयागांव के पास हरदिया चंवर में एक विदेशी कंपनी के सहयोग से इस योजना को धरातल पर उतारने का प्रयास हो रहा है। इसके सफल होने पर आसपास के हजारों किसानों को सस्ती बिजली तो मिलेगी ही साथ में मछली पालन और जलीय खेती से स्वरोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे।

सारण का विशाल हरदिया चंवर सालों भर पानी से भरा रहता है। इसके चलते यहां के किसानों को इसका कोई लाभ नहीं मिल पाता है। वैसे चंवर के कुछ हिस्से में धान के थोड़ी-बहुत फसल हो जाती है लेकिन अन्य फसलों की कोई उम्मीद नहीं रह जाती। करीब दो हजार एकड़ में फैले इस चंवर को आर्थिक उत्पादन के रूप में विकसित करने के प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अतिमहत्वाकांक्षी योजना नीचे मछली उपर बिजली से यहां के किसानों को समृद्ध बनाया जाएगा। बीस से अधिक गांव के किसान होंगे लाभान्वित, खेती को मिलेगी बिजली :

हरदिया चंवर के चारों तरफ करीब दो दर्जन गांवों को इस प्रोजेक्ट से लाभ मिलेगा। मेगा सोलर प्लांट से किसानों को चौबीस घंटे सस्ती बिजली मिलेगी। इससे खेती में सिचाई की सुविधा भी मिल जाएगी। योजना में पानी भरे खेतों में स्टील टावरों के माध्यम सोलर प्लांट लगाए जाएंगे। उसके नीचे मछली पालन और जलीय खेती की व्यवस्था होगी। इसके लिए किसानों के समूह तैयार किए जाएंगे। हर समूह को स्टील जाली से घेरे पानी का क्षेत्र आवंटित किया जाएगा। इसमें महत्वपूर्ण बात यह भी है कि किसानों को उनके जमीन का किराया तो मिलेगा ही उन्हें अपनी जमीन में मछली पालन के लिए अनुदानित सहयोग भी प्राप्त होगा। ग्राम सभाओं ने दी सहमति, उर्जा सचिव कर चुके बैठक :

हरदिया चंवर मेगा सोलर प्लांट प्रोजेक्ट के लिए आसपास के पंचायतों की ग्राम सभाएं अपनी सहमति दे चुकी है। इसके लिए राज्य के उर्जा सचिव प्रत्यय अमृत ग्राम पंचायतों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक भी कर चुके हैं। जिला प्रशासन के वरीय अधिकारियों ने प्रस्तावित भूखंडों का सर्वे कराया है। इसके आधार पर विस्तृत कार्ययोजना तैयार किया जा रहा है। चंवर में जलीय खेती की संभावना तलाशने के लिए कृषि विभाग के वैज्ञानिकों का सहयोग लिया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट के धरातल पर उतरने से अनुपयोगी बन रहे हरदिया चंवर का क्षेत्र भी आर्थिक संसाधन का माध्यम बन जाएगा। इससे आसपास के दो दर्जन से अधिक गांव जगमग हो उठेंगे। वर्जन-

हरदिया चंवर में मेगा सोलर प्लांट के लिए उर्जा विभाग के स्तर पर काम हो रहा है। जिला प्रशासन अपनी ओर से आवश्यक प्रक्रिया पूरे कर विभाग को उपलब्ध करा चुका है। इस प्रोजेक्ट के साकार होने से आसपास के लोगों में समृद्धि का रास्ता खुल जाएगा।

- सुब्रत कुमार सेन,

डीएम, सारण.

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप