Move to Jagran APP

Pappu Yadav: 'मेरी औकात नहीं है कि मैं...', अब पप्पू यादव ने फोड़ा सियासी बम, तेजस्वी यादव पर बुरी तरह भड़के

Bihar Politics पूर्णिया में 26 अप्रैल को होने वाले मतदान से पहले सियासत गर्म होती दिख रही है। निर्दलीय प्रत्याशी पप्पू यादव ने तेजस्वी यादव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने तेजस्वी के नौकरी देने के दावों पर भी हमला बोला है। पप्पू यादव ने तेजस्वी से पूर्णिया सुपौल और सीमांचल के जिलों के विकास के बारे में पूछा

By Sanjeev Kumar Edited By: Sanjeev Kumar Sat, 20 Apr 2024 11:52 AM (IST)
तेजस्वी यादव पर भड़के पप्पू यादव (जागरण)

एएनआई, पूर्णिया। Bihar Politics News Hindi: पूर्णिया में मतदान में अब एक सप्ताह से भी कम का समय बचा है। ऐसे में यहां नेताओं के बीच जुबानी जंग और तेज हो गई है। इसी क्रम में पूर्णिया से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे पप्पू यादव ने तेजस्वी यादव से कई तीखे सवाल पूछ दिए।

पप्पू यादव ने नौकरी को लेकर उठाए सवाल

पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने कहा कि तेजस्वी यादव दो बार उपमुख्यमंत्री रह चुके हैं और उन्हें बताना चाहिए कि उन्होंने पूर्णिया, सुपौल के लिए क्या किया है? उन्होंने सीमांचल के लिए कितना विकास किया है। पप्पू यादव ने कहा कि तेजस्वी यादव के पास 5-5 विभाग थे लेकिन नौकरी कितनी मिली? ये भी बताएं।

पप्पू यादव ने कहा कि तेजस्वी यादव कोशी- सीमांचल कई बार आए लेकिन न उनका ध्यान विकास पर रहता है, न पूर्णिया में उनकी कोई भूमिका रहती है। पूर्णिया की जनता से इतनी नफरत क्यों?

मेरी औकात नहीं चुनाव लड़ने की: पप्पू यादव

पप्पू यादव ने कहा कि मैं यहां से चुनाव नहीं लड़ रहा हूं, क्योंकि मेरी औकात नहीं है यहां से चुनाव लड़ने की। पूर्णिया की जनता मेरे लिए यहां से चुनाव लड़ रही है। बता दें कि पप्पू यादव पहले भी तेजस्वी यादव के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं।

पूर्णिया में कब है मतदान (Purnia Voting Date)

पूर्णिया में 26 अप्रैल यानी आगामी शुक्रवार को चुनाव है। यहां तीन उम्मीदवार आमने-सामने होंगे। इनमें एनडीए और जेडीयू की तरफ से संतोष कुशवाहा तो आरजेडी और महागठबंधन की तरफ से बीमा भारती होंगी। वहीं, निर्दलीय के रूप में पप्पू यादव ताल ठोक रहे हैं। पप्पू यादव लगातार रैली कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें

Bihar Politics: बिहार में प्रचार के दौरान इन उम्मीदवारों की हुई थी हत्या, बड़ी लंबी है लिस्ट; पढ़ें सभी के नाम

UPSC Result 2023: सिविल सेवा में हिंदी माध्यम वाले छात्र क्यों पिछड़ रहे? ये वजह आ रही सामने; पढ़ें एक्सपर्ट की राय