जानकीनगर (पूर्णिया), संस : पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लि. के सौजन्य से चांदपुर भंगहा पंचायत के अशोकनगर के प्रभावित होने वाले किसानों के बीच उत्पन्न विवाद को सुलझाने एवं गतिरोध को दूर करने के लिए जिलाधिकारी राजेश कुमार के निर्देश पर अधिकारियों का दल अशोकनगर पहुंचा। इस दल में पूर्वी क्षेत्र पारेषण प्रणाली के उप महाप्रबंधक अरूण कुमार सिंह, फरीदाबाद के उप महा प्रबंधक अखिलेश पाठक, एजीएम स्वामी दुरई, सीनियर अभियंता, पारेषण एवं असैनिक संजीव कुमार, बनमनखी के भूमि सुधार उप समाहर्ता संजय कुमार सिंह, बनमनखी के अनुमंडल पदाधिकारी मनोज कुमार व पार ग्रिड के कई अन्य पदाधिकारी शामिल थे। अधिकारियों द्वारा किसानों को समझाने-बुझाने का हरसंभव प्रयास किया गया। किंतु विश्वम्भर झा, मिथिलेश, ललन कुमार, पुलकित झा, नंद किशोर, शिवेश्वर झा, नवल किशोर झा, नारायण झा सहित कई अन्य किसानों ने मौजूद अधिकारियों से कहा कि टावर ग्रिड का निर्माण फलदार एवं ईमारती बागान तथा प्रस्वीकृति प्राप्त आराध्या नेशनल कॉन्वेंट को बचाते हुए किया जाए। इस अवसर पर अधिकारियों ने टावर निर्माण स्थल का सर्वे व पैमाईश करवाने पुन: प्रावधान के अनुसार क्षतिपूर्ति करने का भी आश्वासन दिया। किसानों ने इन अधिकारियों से यह भी कहा कि मामला उच्च न्यायालय में विचाराधीन है एवं न्यायालय द्वारा स्थगन आदेश भी पारित कर दिया गया है अत: न्यायालय के अंतिम फैसला आने तक वे लोग कोई समझौता नहीं करेंगे। एसडीओ श्री कुमार व डीसीएलआर श्री सिंह इन किसानों को अलग-अलग बुलाकर देर तक मान-मनोवर करते रहे। मगर नतीजा ढाक के तीन पात। एसडीओ श्री कुमार ने ग्रामीणों से एक बार पुन: सोच-विचार करने की नसीहत देते हुए कहाकि वे उनसे बात करने फिर आएंगे। सभी अधिकारी निकट स्थित प्रसिद्ध मां काली मंदिर भी देखने गए। स्थानीय किसानों व ग्रामीणों ने बताया कि इससे पूर्व पूर्णिया के एडीएम धनंजय ठाकुर व अन्य अधिकारी भी यहां पहुंच चुके हैं।