Move to Jagran APP

'डीजीपी साहब! आपकी पुलिस सीएसपी में घूस मंगा रही...', जब पीड़िता ने घूसखोर महिला अधिकारी की खोलकर रख दी पोल

डीजीपी साहब आपकी पुलिस अब घूस के पैसे सीएसपी में मंगाने लगी है। पूर्णिया के सदर थाना की एक महिला पुलिस अधिकारी ने पकड़ में आने से बचने के लिए डगरूआ के एक सीएसपी संचालक के खाते में नेपाल की पीड़ित महिला से रकम मंगाया। मामला सामने आने के बाद पूर्णिया के एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा ने सदर डीएसपी पुष्कर कुमार को पूरे मामले की जांच का आदेश दिया है।

By Narendra Kumar Anand Edited By: Mohit Tripathi Published: Wed, 21 Feb 2024 08:01 PM (IST)Updated: Wed, 21 Feb 2024 08:01 PM (IST)
सदर थाना में तैनात महिला एसआई अन्नू कुमारी। (फाइल फोटो)

राजीव कुमार, पूर्णिया। डीजीपी साहब, आपकी पुलिस अब घूस के पैसे सीएसपी में मंगाने लगी है। पूर्णिया के सदर थाना की एक महिला पुलिस अधिकारी ने पकड़ में आने से बचने के लिए डगरूआ के एक सीएसपी संचालक के खाते में नेपाल की पीड़ित महिला से रकम मंगाया।

इस मामले के सामने आने के बाद पूर्णिया के एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा ने सदर डीएसपी पुष्कर कुमार को पूरे मामले की जांच का आदेश दिया है। सदर डीएसपी पुष्कर कुमार ने बताया कि एसपी के निर्देश बाद इस मामले की जांच शुरू कर दी गयी है।

पूर्णिया के सदर थाना में तैनात महिला एसआई अन्नू कुमारी पर थाना में केस दर्ज कराने वाली एक महिला ने एसआई द्वारा किसी दूसरे के एकाउंट पर पैसा मंगाने का आरोप लगाया है।

क्या है पूरा मामला ?

पीड़ित महिला ने बताया कि वह नेपाल की रहनेवाली है और एक साल पहले पूर्णिया के सदर थाना क्षेत्र के प्रोफेसर कालोनी रामबाग के रहनेवाले एक युवक ने शादी का झांसा देकर उससे कई बार शारीरिक संबंध बनाया। जब महिला द्वारा शादी का दबाब दिया जाता था, तो युवक द्वारा टाल मटोल कर दिया जाता था।

युवक ने कुछ दिन पहले ही किसी दूसरी लड़की से शादी कर ली। इस बात का पता लगने पर नेपाल की महिला ने पूर्णिया के सदर थाना में युवक के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज करायी।

सदर थाना में तैनात महिला एसआई अन्नू कुमारी को इस मामले की जांच का जिम्मा सौंपा गया। पीड़ित महिला ने बताया कि सदर थाना के पुलिस पदाधिकारी द्वारा केस के नाम पर लगातार उससे पैसे की डिमांड की जा रही थी। पीड़ित महिला ने साक्ष्य के तौर पर वाइस काल ,वॉट्सऐप चेटिंग और पे फोन पर दिया गया पैसा का सबूत भी दिया। पीड़ित महिला ने किसी मुर्शीद के नाम के एकाउंट पर पैसा भेजने की बात बतायी है।

सबसे हैरत की बात यह है कि नेपाल की रहने वाली पीड़ित महिला ने डगरूआ के रहने वाले सीएसपी संचालक के खाते में पैसे मंगाये। इस संबंध में पूछे जाने पर डगरूआ के सीएसपी संचालक मु. मुर्शीद ने बताया कि उसने थाना के चालक विकास कुमार के कहने पर अपने खाते में पैसे मंगाये।

मो. मुर्शीद सदर थाना के सरकारी चालक विकास को कैसे जानता है तो इस संबंध में सीएसपी संचालक ने कहा कि विकास अक्सर डगरूआ आते-जाते रहता था। इसी कारण उससे उसकी पहचान थी। सदर थाना के चालक से उसकी मुलाकात सदर अस्पताल के पास हुई, इसके बाद उसने खाते में पैसा मंगाया।

सदर डीएसपी ने कहा जांच में मिले लेनदेन के कई साक्ष्य

इस मामले की जांच सदर डीएसपी पुष्कर कुमार द्वारा शुरू कर दी गयी है। सदर डीएसपी पुष्कर कुमार ने कहा की इस मामले की जांच में कई तरह के साक्ष्य सामने आए हैं जिसमें महिला पुलिस पदाधिकारी द्वारा गड़बड़ी बरते जाने की बात सामने आई है। सदर डीएसपी ने बताया की पीड़िता के द्वारा भी इस मामले में जो जानकारी उपलब्ध कराई गयी है उसमें पुलिस पदाधिकारी द्वारा मेडिकल के नाम पर रूपए लेने की बात सामने आई है। सदर डीएसपी ने कहा कि वे इस मामले में जल्द अपनी रिपोर्ट एसपी को भेजेंगे। रिपोर्ट बाद सदर थाना में पदस्थापित महिला पुलिस पदाधिकारी अन्नू कुमारी पर कार्रवाई की गाज गिरना तय माना जा रहा है।

पूर्व से विवादों में रही है सदर थाना की महिला पुलिस अधिकारी

सदर थाना में पदस्थापित महिला पुलिस पदाधिकारी अन्नू कुमारी पूर्व से ही विवादों में रही है। उनके कारनामों के कई आडियो पूर्व में भी वायरल हो चुका है। इसमें वह एक मामले के आरोपित को हर हाल में थाना में आकर जमानत लेने की बात कहती है।

आरोपित इस आडियो में लगातार महिला पुलिस पदाधिकारी से यह कहते सुना जा रहा है कि उसने आपस में इस मामले में मेल मिलाप कर लिया है। महिला पुलिस पदाधिकारी कुछ भी सुनने को तैयार नहीं दिखती है। वह कहती है बेल लेना होगा चाहे जहां जाना हो जाइए। एसपी, आइजी एवं डीआइजी के यहां।

यह भी पढ़ें: Bihar Politics: तो इसलिए महेश्वर हजारी ने दिया डिप्टी स्पीकर पद से इस्तीफा, अब इस दिग्गज नेता को मिली यह जिम्मेदारी

शिक्षकों सावधान! इस दिन कटिहार आ रहे 'एक्शन मैन' KK Pathak, स्कूलों का करेंगे निरीक्षण; तैयारी में जुटा प्रशासन


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.