Move to Jagran APP

लालू एंड फैमिली की बढ़ी टेंशन: राबड़ी देवी से सवाल-जवाब कर रही CBI, तेजस्वी और तेज प्रताप भी साथ

लैंड फॉर जॉब स्कैम यानी जमीन के बदले नौकरी घोटाला मामले में लालू यादव राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती की 15 मार्च को दिल्ली की अदालत में पेशी है। पेशी से 9 दिन पहले सीबीआई द्वारा पूछताछ ने राजनीतिक गलियारे में हलचल बढ़ा दी है।

By Aditi ChoudharyEdited By: Aditi ChoudharyPublished: Mon, 06 Mar 2023 12:22 PM (IST)Updated: Mon, 06 Mar 2023 12:22 PM (IST)
लैंड फॉर जॉब स्कैम मामले में पटना स्थित राबड़ी आवास पर पहुंची सीबीआई

पटना, जागरण डिजिटल डेस्क। लैंड फॉर जॉब स्कैम मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनके परिवार की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ने लगी है। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) की टीम पटना में राबड़ी देवी के आवास (CBI ar Rabri Residence) पर इस मामले में पूछताछ करने पहुंची है। बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi CBI) से पूछताछ हो रही है। साथ में दोनों बेटे तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) और तेज प्रताप (Tej Pratap) यादव भी हैं। वहीं, इस मामले में आरोपित लालू प्रसाद यादव (Lalu Yadav) और उनकी बड़ी बेटी मीसा भारती (Misa Bharti) अभी दिल्ली में हैं।

लैंड फॉर जॉब स्कैम यानी जमीन के बदले नौकरी घोटाला मामले में लालू यादव, राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती की 15 मार्च को दिल्ली की अदालत में पेशी है। पेशी से 9 दिन पहले सीबीआई द्वारा पूछताछ ने राजनीतिक गलियारे में हलचल बढ़ा दी है।

रेलवे में नौकरी के बदले लोगों से जमीन लेने का आरोप

लालू यादव और उनके परिवार पर आरोप है कि साल 2004 से 2009 के दौरान केंद्र की यूपीए-1 सरकार में रेलमंत्री रहते हुए लालू यादव और उनके परिवार ने रेलवे में नौकरी के बदले लोगों से उनकी जमीन ली थी। किसी ने तोहफे में जमीन दी, तो किसी ने कम दामों में पटना की महंगी जमीन लालू परिवार के सदस्यों को बेच दी। इस केस में लालू यादव, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव व उनकी पुत्रियों के नाम भी हैं।

बाजार दर से कम कीमत पर हुई डील

इस मामले में पिछले साल 10 अक्टूबर को सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल की थी, जिसमें 16 लोगों को आरोपित बनाया गया था। सीबीआई का आरोप है कि मध्य रेलवे के तत्कालीन महाप्रबंधक और केंद्रीय रेलवे के सीपीओ के साथ साजिश रचकर लालू परिवार ने नौकरी के बदले प्रचलित सर्किल रेट से काफी कम और बाजार दर से काफी कम कीमत पर हासिल की थी। 

गृह मंत्रालय ने CBI को दी मुकदमा चलाने की मंजूरी

इसी केस में पिछले साल रेलवे स्टाफ ह्रदयानंद चौधरी और लालू प्रसाद यादव के तत्कालीन ओएसडी भोला यादव को सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया था। भोला यादव 2004 से 2009 के बीच लालू यादव के ओएसडी थे, जब लालू रेल मंत्री थे।  इसी साल जनवरी में इस मामले में लालू प्रसाद यादव के खिलाफ गृह मंत्रालय ने सीबीआई को मुकदमा चलाने की मंजूरी दी थी।

लालू परिवार को मिला केजरीवाल का साथ

राबड़ी देवी के आवास पर सीबीआई की पूछताछ के बीच लालू परिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का साथ मिला है। केजरीवाल ने कहा कि विपक्षी पार्टी के सदस्यों पर छापे पड़ना अपमानजनक है। विपक्ष शासित राज्यों में काम ठप करने के लिए केंद्र द्वारा यह चलन बढ़ता जा रहा है। वे ईडी, सीबीआई और गवर्नर का इस्तेमाल कर राज्य की सरकारों को परेशान करने के लिए ऐसा करते हैं। 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.