पटना [जेएनएन]। राजद सुप्रीमो लालू यादव ने कहा रामजेठमलानी को चाचा कहकर संबोधित करते हुए कहा कि ठीक है, उनको पैसे की क्या कमी है चाचा को, हमरा जितना केस है, उन्होंने ही लड़ा है और हम लोगों से तो एक पैसा नहीं लिया।

 Theek hai unko paisa ki kya kami hai chacha ko,hamara jitna case hai hum logon se toh ek paisa nahi liya-Lalu Prasad Yadav on Ram Jethmalanipic.twitter.com/Z61ST6zC5x

— ANI (@ANI_news) April 4, 2017

दरअसल देश के बड़े वकीलों में से एक राम जेठमलानी ने मंगलवार को बयान दिया था कि अगर जेटली मानहानि वाले मुद्दे पर केजरीवाल के पास मुझे देने के लिए पैसे नहीं हैं तो वह उन्हें गरीब क्लाइंट समझ लेंगे।

 I charge only the rich but for poor I work for free. All this is instigated by Mr.Jailtley who's afraid of my cross-examination-Jethmalani pic.twitter.com/GnKjDq0pv4

— ANI (@ANI_news) April 4, 2017

क्या कहा था जेठमलानी ने ?

इससे पहले जेठमलानी ने कहा था कि 'मैं सिर्फ अमीरों से पैसे लेता हूं, गरीबों के लिए मैं तो फ्री में काम करता हूं।ये सब अरुण जेटली का करा धराया है जो मेरे क्रॉस-एग्जामिनेशन से डरे हुए हैं। अगर दिल्ली सरकार या वह (केजरीवाल) पेमेंट नहीं करते हैं तो मैं उन्हें एक गरीब क्लाइंट समझूंगा।'

Even now if govt (Delhi) doesn't pay or he can't pay will appear for free,will treat him(Kejriwal) as one of my poor clients: Ram Jethmalanipic.twitter.com/YwT9OdwiOI

— ANI (@ANI_news) April 4, 2017

बीजेपी ने लगाया था आरोप

बता दें कि बीजेपी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया था कि अरुण जेटली द्वारा दर्ज कराए गए आपराधिक मानहानि केस में वे कानूनी खर्चे सरकारी खजाने से चुकाने की कोशिश कर रहे हैं।

कितना बिल केजरीवाल को भरना है?

इस संबंध में दिल्ली सरकार ने लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल को खत लिखकर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अरुण जेटली द्वारा दर्ज कराए गए मानहानि केस में कानूनी खर्चों के बिल का भुगतान कराने को कहा है। दिल्ली सरकार का एलजी को लिखा वह खत बीजेपी प्रवक्ता तेजेंद्र बग्गा ने ट्विटर पर जारी किया है, जिसमें 3.86 करोड़ रुपये के कानूनी खर्च के बिल का भुगतान कराने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें: मिट्टी बेचने के आरोप पर बाेले लालू- हम गोबर भी चिडि़याघर को मुफ्त देते हैं

ये है मामला

दरअसल अरविंद केजरीवाल ने अरुण जेटली पर दिल्ली और जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) में भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। जेटली साल 2013 तक डीडीसीए के अध्यक्ष थे। उन्होंने ये ओहदा 13 साल तक संभाला था। आरोपों के खिलाफ जेटली अदालत गए और केजरीवाल के खिलाफ 10 करोड़ रुपये का मानहानि दावा किया। इसके अलावा उन्होंने पटियाला हाउस कोर्ट में इसी मामले में आपराधिक मानहानि का मामला भी दर्ज करवाया है।

यह भी पढ़ें: मिट्टी घोटाले से बेटे को बचाने के लिए आधी रात को cm से मिले लालू: सुशील मोदी

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप