पटना [जेएनएन]। सेक्स रैकेट चलाने का आरोप, साथ ही लड़कियों का शौकीन और यौन शोषण मामले का आरोपी बिहार का माल्या कहा जाने वाला निखिल प्रियदर्शी पिछले 2 महीने से पुलिस को धोखा देता रहा और आखिरकार पुलिस ने उसे उत्तराखंड से गिरफ्तार कर लिया और पटना लेकर आ रही।

निखिल प्रियदर्शी पर जहां एक लड़की ने यौन शोषण का आरोप लगाया है वहीं उसे गिरफ्तार करवाने में एक लड़की ने बड़ी भूमिका निभाई है। लड़की निखिल से प्यार करती थी लेकिन जब उसे अपने प्यार की सच्चाई पता चली तो उसने फरार प्रेमी को पकड़वाने में पुलिस की मदद की। निखिल प्रियदर्शी के खिलाफ बिहार के पूर्व मंत्री की बेटी ने यौन शोषण का आरोप लगाया था जिसके बाद वह फरार हो गया था।

गिरफ्तारी के डर से फरार हुआ निखिल अपनी आदत से बाज नहीं आया। जिस राज्य में वह छुपा बैठा था वहीं एक लड़की से निखिल को प्यार हो गया। निखिल ने उससे शादी करने का वादा किया था। लडकी अपने प्यार की हकीकत जानने की फिराक में लगी थी।
यूपी की रहने वाली पायल ने जैसे ही गूगल पर उसका नाम डाला तो उसे निखिल प्रियदर्शी के कारनामों के बारे में पता चला। सारी हकीकत पायल के सामने आ गई जिसके बाद वह उससे कन्नी काटने लगी और पुलिस की मदद करना शुरू कर दिया। फिर पायल के ही बताए हुए सूचना पर पुलिस ने निखिल को गिरफ्तार करने में कामयाब रही।
मिली जानकारी के अनुसार बिहार पुलिस की स्पेशल टीम ने जब उसकी गिरफ्तारी के लिए खाक छान रही थी तभी टीम के एक अधिकारी की नजर उसके सोशल मीडिया अकाउंट पर गई। फिर क्या था पुलिस उस लड़की तक पहुंचने की कोशिश में लग गई।
लेकिन जब पुलिस लड़की के पास पहुंची तब तक लड़की का भी दिल टूट चुका था क्योंकि उसे निखिल की सारी सच्चाई गूगल से पता चल चुकी थी। फिर पायल ने पुलिस के सामने निखिल की सारी सच्चाई बताई जिससे उसे गिरफ्तार करने में काफी मदद मिली।
पायल के जरिए पुलिस गुड़गांव में ऑडी सर्विस सेंटर के मैनेजर वरुण तक पहुंची जिसके संपर्क में निखिल था। निखिल ने हाल ही में ऑडी की डिलेवरी प्राप्त की थी। वरुण से पूछताछ के बाद पुलिस ने ऑडी के मूवमेंट को ट्रेस किया और उत्तराखंड के ऋषिकेश में निखिल को दबोच लिया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप