पटना । अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), पटना का अत्याधुनिक ऑपरेशन थिएटर अगस्त से काम करने लगेगा। इसके लिए एम्स प्रशासन की ओर से तैयारी आरंभ कर दी गई है। नए मॉडयूलर ओटी के कार्य करने से मरीजों की ऑपरेशन के लिए वेटिंग लिस्ट में कमी आएगी। एम्स में अभी पांच ओटी कार्यरत हैं। इसमें सोमवार को जेनरल सर्जरी व पीडियाट्रिक सर्जरी, मंगलवार को आंख, नाक, कान, गला एवं दंत रोग, बुधवार को हड्डी और प्लास्टिक सर्जरी, गुरुवार को स्त्री एवं प्रसूति, कॉर्डियक थोरेसिक सर्जरी, शुक्रवार को जेनरल सर्जरी, न्यूरो सर्जरी और पीडिया सर्जरी विभाग के लिए ओटी निर्धारित है। ऑपरेशन थिएटर की कमी होने के कारण ऑपरेशन को लेकर तीन महीने से लेकर छह महीने तक की वेंटिंग लिस्ट चल रही है।

-------------------

हवा पर रहेगा नियंत्रण, होगा संक्रमणमुक्त ओटी

नए मॉडयूलर ओटी में सभी अत्याधुनिक सुविधाएं होंगी। इसमें मशीन के माध्यम से हवा पर नियंत्रण होगा। इससे संक्रमण की आशंका कम होगी। इसमें प्रवेश से लेकर निकास तक के लिए दरवाजे में सेंसर लगा है। इससे बिना किसी निर्देश के दरवाजे का खुलना, पानी का नल खुलना आदि कार्य ऑटोमैटिक होगा। ओटी पूरी तरह लाइव रहेगा। इससे संस्थान के छात्र अपनी कक्षा में ही ऑपरेशन को देख सकते हैं, इससे संबंधित जानकारी भी ले सकते है। मरीजों के लिए खास है कि ओटी में ही हृदय की धड़कन, बीपी, सांस की गति, ईसीजी की मॉनीट¨रग ऑटोमैटिक तरीके से देखी जा सकेगी। मरीज के कांशस लेवल की भी आसानी से जानकारी रहेगी। निश्चेता विभागाध्यक्ष डॉ. उमेश कुमार भदानी ने बताया कि अत्याधुनिक मॉडयूलर ओटी मरीजों के लिए काफी लाभदायक साबित होगा। वहीं संस्थान के छात्रों के लिए भी लाभदायक रहेगा। मरीजों के लिए दर्द निवारण औषधि मशीन के माध्यम से दी जाएगी।

Posted By: Jagran