पटना [जेएनएन]। आर्म्स एक्ट मामले में फरार चल रहे बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा ने आज बेगूसराय कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। सरेंडर करने के बाद उन्हें हिरासत में लेकर 14 दिनों के लिए जेल भेज दिया गया है।

डीजीपी ने कहा-चंद्रशेखर ने पुलिस के डर से किया सरेंडर 

मंजू वर्मा के पति की गिरफ्तारी मामले में बिहार के डीजीपी केएस द्विवेदी ने कहा कि पुलिस मंजू वर्मा के घर आज कुर्की जब्ती करने वाली थी। पुलिस की इस कार्रवाई से डरकर चंद्रशेखर वर्मा ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। 

चंद्रशेखर ने कहा-पुलिस न्यायालय से नहीं है शिकायत

सरेंडर के दौरान चंद्रशेखर ने कहा कि अगर मेरे घर से हथियार और कारतूस मिलता है तो इसमें मेरी पत्नी का क्या दोष है?जब शहाबुद्दीन के घर से हथियार मिला था तो उसकी वाइफ हीना शहाब तो दोषी नहीं हुई। उसने कहा कि मुझे पुलिस और न्यायालय से कोई शिकायत नहीं है। सीबीआई को मेरे विरुद्ध शेल्टर होम मामले में कोई सुबूत नहीं मिला है। 

सुप्रीम कोर्ट ने लगाई थी फटकार

बता दें कि चंद्रशेखर वर्मा की गिरफ्तारी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआइ और बिहार सरकार को कड़ी फटकार लगाई थी और पूछा था कि आखिर चंद्रशेखर वर्मा को अबतक गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया है?

चंद्रशेखर वर्मा की गिरफ्तारी को लेकर कई दिनों से पुलिस जगह-जगह  छापेमारी कर रही थी। लेकिन वह गिरफ्तार नहीं हो सका और आज मौका मिलते ही उसने बेगूसराय के मंझौल कोर्ट में सरेंडर कर दिया।

मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड में आया था नाम

बालिका गृह कांड में चंद्रशेखर वर्मा का मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से संबंध सामने आने के बाद मंत्री मंजू वर्मा को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। उसके बाद उनके चेरिया बरियारपुर स्थित श्रीपुर गांव के मकान के एक कमरे से अवैध कारतूस बरामद किया गया था। जिसके बाद सीबीआइ ने आर्म्स एक्ट के तहत मंजू वर्मा और उनके पति चंद्रशेखर वर्मा के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया था।

इस मामले में पटना हाईकोर्ट ने मंजू वर्मा की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। पुलिस को चकमा देकर दोनों पति-पत्नी फरार चल रहे थे। आज चंद्रशेखर वर्मा ने सरेंडर कर दिया है। 

Edited By: Kajal Kumari