Move to Jagran APP

बिहार BJP के सारथी सम्राट चौधरी को मिली Z श्रेणी की सुरक्षा, विजय सिन्हा समेत इन नेताओं की भी सिक्योरिटी बढ़ी

केंद्र सरकार ने मंगलवार को बिहार भाजपा से जुड़े चार नेताओं की सुरक्षा बढ़ा दी है। गृह मंत्रालय ने यह पहल इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) से मिली इनपुट के आधार पर की है। इसके तहत भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी को जेड और भाजपा विधान मंडल दल के नेता और विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता विजय सिन्हा को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई है।

By Jagran NewsEdited By: Mohit TripathiPublished: Tue, 29 Aug 2023 07:15 PM (IST)Updated: Tue, 29 Aug 2023 07:15 PM (IST)
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी सहित चार भाजपा नेताओं की बढ़ी सुरक्षा।

राज्य ब्यूरो, पटना: केंद्र सरकार ने मंगलवार को बिहार भाजपा से जुड़े चार नेताओं की सुरक्षा बढ़ा दी है। गृह मंत्रालय ने यह पहल इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) से मिली इनपुट के आधार पर की है।

गृह मंत्रालय ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी को जहां जेड श्रेणी की सुरक्षा मुहैय्या कराई है, वहीं  भाजपा के विधानमंडल दल के नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई है।

इनके अलावा, एमएलसी और सिक्किम के प्रभारी दिलीप जायसवाल और मुजफ्फरपुर जिले के साहेबगंज विधायक राजू सिंह को एक्स श्रेणी की सुरक्षा दी गई है।

सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा मौजूदा समय में बिहार भाजपा के दो प्रमुख चेहरे हैं। दोनों का अक्सर पूरे बिहार में दौरा होता है। ऐसे में दोनों नेताओं की सुरक्षा को बढ़ाया गया है। इसके अलावा, वर्तमान में बिहार भाजपा के कई सांसदों को एक्स और वाई श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है।

हाईप्रोफाइल नेताओं को मिलती है ऐसी सुरक्षा

केंद्र सरकार समय-समय पर हाईप्रोफाइल नेताओं, उद्योगपतियों और प्रतिष्ठित व्यक्तियों की सुरक्षा की समीक्षा करती और उसी अनुरूप उसे बढ़ाया-घटाया जाता है।

भारत में राजनेताओं और सम्‍मानित व्‍यक्तियों को उनके काम और लोकप्रियता के कारण उनकी जान के खतरे को देखते हुए इस तरीके की सुरक्षा मुहैया करायी जाती है।

Z श्रेणी सुरक्षा की क्या है खासियत

देश में ये तीसरे नंबर की वीआईपी सुरक्षा होती है। जेड सुरक्षा में कुल 22 जवान होते हैं। इनमें से चार-पांच एनएसजी के विशेष कमांडो होते हैं, जो करीबी लड़ाई की कई विधाओं में पारंगत होते हैं। ये कमांडो बिना हथियार के भी दुश्मन का मुकाबला करने में माहिर होते हैं।

इसके लिए इन्हें विशेष प्रशिक्षण दिया जाता है। एक एस्कॉर्ट वाहन भी सुरक्षा में शामिल होता है। एनएसजी कमांडो टुकड़ी के अलावा जेड सुरक्षा में दिल्ली पुलिस या सीआरपीएफ के जवानों को भी शामिल किया जाता है।

Y श्रेणी सुरक्षा

वीआईपी सुरक्षा में चौथे स्थान पर आने वाली Y श्रेणी की सुरक्षा सबसे कॉमन है। ज्यादातर वीआईपी को केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से Y श्रेणी की ही सुरक्षा मुहैया कराई जाती है। इसमें कुल 11 जवान शामिल होते हैं। इसमें एक या दो कमांडों, दो पीएसओ और शेष अर्धसैनिक बलों के जवान होते हैं।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.