Move to Jagran APP

Bihar Lightning: बिहार में वज्रपात से आम चुन रही बच्ची समेत 16 की मौत, कई लोग पहुंचे अस्पताल

बिहार में वज्रपात से बुधवार को विभिन्न जगहों पर 16 लोगों ने अपनी जान गंवा दी। वहीं चार अन्य लोगों के घायल होने की जानकारी है। पटना और बांका में तीन-तीन लोगों की जान गई है। इसके अलावा नालंदा और सिवान के अलावा कैमूर में दो-दो लोगों की मौत होने की जानकारी है। मृतकों में एक बच्ची भी शामिल है।

By Jagran News Edited By: Mukul Kumar Wed, 10 Jul 2024 10:50 PM (IST)
प्रस्तुति के लिए इस्तेमाल की गई तस्वीर

जागरण टीम, पटना। राज्य में बुधवार को वज्रपात की अलग-अलग जगहों पर हुई घटनाओं में 16 लोगों की मौत हो गई, जबकि चार अन्य घायल हो गए। बांका और पटना में तीन-तीन, नालंदा, सिवान व कैमूर में दो-दो तथा भोजपुर, रोहतास, मुंगेर व सारण में एक-एक व्यक्ति की मौत की सूचना है।

इनमें सिवान के रघुनाथपुर थाना के अमहरा गांव में ननिहाल आई बच्ची प्रीति कुमारी भी शामिल है। वह तेज हवा व वर्षा के बीच बाग में आम चुन रही थी। वह असांव थाना क्षेत्र के शिवपुर सकरा निवासी गोविंदा साह की पुत्री थी।

जिले के निखती कला गांव में धान की रोपनी कर रहे बंगाल के खानपुर मालदा थाना क्षेत्र के ग्वालपाड़ा निवासी इस्ताब अली के 28 वर्षीय पुत्र अनुकूल भी वज्रपात की चपेट में आ गए। वह साथियों संग बंगाल से रोपनी करने आए थे। पटना जिले में एक महिला समेत तीन लोगों की मौत हो गई।

वज्रपात के बाद अचेत हो गए लोग

वहीं, तीन लोग अचेत हो गए। इनमें अपनी ननिहाल नौबतपुर प्रखंड के गोपालपुर गांव में रह रहे परसा थाना क्षेत्र के फतेहपुर ढिबरा निवासी राजू विश्वकर्मा के 17 वर्षीय पुत्र विशाल कुमार उर्फ भोला शामिल हैं।

मसौढ़ी थाना के भदौरा टोला मलकाना निवासी कपिलदेव प्रसाद यादव की पत्नी सकली देवी (55) और थाना के नोनियारीचक के स्वर्गीय युगल प्रसाद के पुत्र अनिल कुमार (46) की मौत हो गई। तीन लोग अचेत हो गए।

नालंदा के सरमेरा थाना क्षेत्र के खंधा में बकरी चरा रहे गोविंदपुर निवासी 56 वर्षीय अर्जुन प्रसाद तथा शेखरा बिगहा गांव में मवेशी चरा रही रामचंद्र चौहान की पत्नी हरखी देवी वज्रपात के चपेट में आ गई।

कैमूर जिले के दुर्गावती थाना क्षेत्र के कर्णपुरा गांव में 62 वर्षीय अमरनाथ सिंह व मोहनिया के कुर्रा गांव निवासी 45 वर्षीय राजमिस्त्री दयाशंकर राम की मौत हो गई। दोनों वर्षा के दौरान झोपड़ी में छिप गए थे, फिर भी वज्रपात की चपेट में आ गए।

भोजपुर जिले के करनामेपुर थाना क्षेत्र के रामकरही गांव में भैंस चरा रहे किसान 63 वर्षीय धरीक्षण यादव की मौत हो गई। रोहतास जिले के काराकाट थाना क्षेत्र के संझौली मठ गांव के बधार में विनोद प्रजापति के पुत्र 25 वर्षीय सोहराई कुमार की मौत हो गई।

सारण जिले के दाउदपुर थाना क्षेत्र के दुमदुमा गांव में वज्रपात की चपेट में आने से निजी स्कूल की शिक्षिका हर्षपुरा गांव निवासी सुरेश शर्मा की 22 वर्षीय पुत्री रश्मि कुमारी की मौत हो गई।

वहीं, मुंगेर के असरगंज प्रखंड में वज्रपात से एक महिला की मौत हो गई, जबकि बांका में अलग-अगल स्थानों पर आकाशीय बिजली की चपेट में आने से एक महिला सहित तीन लोगों की जान चली गई और चार अन्य घायल हो गए।

यह भी पढ़ें-

Bihar Lightning: बिहार में बारिश के बाद वज्रपात का कहर, तीन जिलों में 8 लोगों ने गंवाई जान; आठ झुलसे

बिहार में मानसून की पहली बारिश का कहर, आकाशीय बिजली की चपेट में आने से बच्ची सहित 5 लोगों की मौत