मुजफ्फरपुर [जेएनएन]। राज्य के ऊर्जा सचिव प्रत्यय अमृत पर जबरन पेड़ काटकर ले जान तथा विरोध करने पर पटककर पीटने के आरोप लगे हैं। इस बाबत ऊर्जा सचिव व उनके परिजनों के खिलाफ सकरा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। सकरा के थानेदार सुरेंद्र मिश्रा ने इसकी पुष्टि की है।

विदिज हो कि बीते 29 जून को आरोपियों के खिलाफ सीजेएम रामचन्द्र प्रसाद के न्यायालय में कुमोद चौधरी ने परिवाद दायर किया था। सीजेएम ने इसे सुनवाई के लिए सबजज-13 रश्मि की अदालत में स्थानांतरित किया। इस मामले में सबजज ने सकरा के थानेदार को प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया। परिवाद पत्र में ऊर्जा सचिव प्रत्यय अमृत, उनके पिता पूर्व वीसी रिपुसूदन श्रीवास्तव, मां कविता वर्मा व रेपुरा गांव निवासी विजय कुमार ठाकुर को आरोपी बनाया गया है।

पढ़ें : बिहार में नक्सली मुठभेड़ में सीआरपीएफ के 10 कमांडो शहीद

लगाए ये आरोप

परिवाद पत्र में कुमोद चौधरी ने आरोप लगाया था कि एक जून की शाम 6 बजे उसे सूचना मिली कि उनकी जमीन में लगे बगीचे के आम, शीशम व महोगनी के पेड़ को आरोपी काट रहे हैं। उन्होंने इसका विरोध किया तो सभी ने उसे पकड़कर जमीन पर पटक दिया तथा घेरकर पिटाई करने लगे। बाद में उन्हें पेड़ में बांध दिया। इसके बाद आरोपीगण पेड़ के काटे गए टुकड़ों को ट्रैक्टर पर लादकर लेते चले गए।

PICS : बिहार में लहराया पाक का झंडा, भड़का जनाक्रोश, देखें तस्वीरें...

Posted By: Amit Alok