मुंगेर। भागलपुर-जमालपुर-किऊल रेलखंड की पटरी को राजधानी एक्सप्रेस के लायक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ा जाएगा। इस रेलखंड पर आने वाले दिनों में बहुत सारी नई गाड़ियों का परिचालन होना तय है। इलेक्ट्रिक लोको के सहारे ट्रेनों की स्पीड भी बढ़ाई जाएगी, ताकि यात्रियों को कम समय में मंजिल तक पहुंचाया जा सके।

यह बातें पूर्व रेलवे मालदा मंडल के डीआरएम यतेंद्र कुमार ने अपने दो दिवसीय स्टेशन निरीक्षण के क्रम में कही। उन्होंने प्रथम दिन साहिबगंज से किऊल रेलखंड तक स्टेशनों व रेल पटरियों का विडो निरीक्षण किया। देर रात डीआरएम जमालपुर स्टेशन लौटे। गुरुवार को अल सुबह जमालपुर से मालदा के लिए निकल गए। डीआरएम ने कहा कि चंद महीनों में मुंगेर, जमालपुर और किऊल रेलखंड होकर राजधानी एक्सप्रेस चलाई जा सकती है। कटिहार से बरौनी रेलखंड की जगह राजधानी मुंगेर किऊल होकर गुजरेंगी। इसका टाइम टेबल व अन्य नोटिफिकेशन रेलवे प्रशासन द्वारा जल्द ही सार्वजनिक कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि ईस्टर्न रेलवे कोलकाता की महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक जमालपुर में निर्माणाधीन रेलवे के दूसरे सुरंग का निर्माण कार्य अब पूरा होने की कगार पर है। उम्मीद जतायी जा रही है कि मार्च-अप्रैल में इसे चालू कर दिया जाएगा। दूसरे सुरंग के चालू होते ही इस रेलखंड पर कई गाड़ियों का भी परिचालन सुलभ हो जाएगा। उन्होंने कहा कि मिथिलांचल से मुंगेर-भागलपुर को जोड़ने के लिए आगामी 25 और 26 जनवरी से प्रत्येक दिन जयनगर भागलपुर स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की हरी झंडी मिली है। इससे यात्रियों को काफी सहूलियत होगी। वहीं जमालपुर स्टेशन पर निर्माणाधीन दिव्यांगों, बुजुर्गो और महिलाओं के लिए लिफ्ट फुट ओवर मशीन जल्द लगाया जाएगा। कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि मार्च तक विभिन्न स्टेशनों पर चल रहे लिफ्ट निर्माण और एस्केलेटर निर्माण कार्य पूरा किया जा सके।

----------

कोरोना काल में बेहतर कार्य करने वाले कर्मचारियों को किया सम्मानित

डीआरएम यतेंद्र कुमार ने कोविड 19 काल में सीमित ट्रेनों का परिचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले साहिबगंज से किऊल के कर्मचारियों को उपहार भेंट कर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि भारतीय रेल की इस विकट स्थिति में भी ट्रैक मैन, गेट मैन, इंजीनियर्स ने अपनी जिम्मेदारियों से मुंह नहीं मोड़ा, तथा इनकी ईमानदारी सर्विस के कारण आज स्पेशल ट्रेनें पटरी पर दौड़ रही है। अगर ये अपनी जिम्मेदारी सर्तकता के साथ नहीं निभाते तो शायद कई परेशानियों से आज मालदा मंडल के विभिन्न स्टेशन प्रशासन को जुझना पड़ता। इस अवसर पर डीएमई (पॉवर) एसके तिवारी, सीनियर डीओएम एके मौर्या, सीनियर डीएसटीई एस यादव, सीनियर डीएसओ आर रंजन सहित अन्य मौजूद थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021