Move to Jagran APP

Bihar News: मधेपुरा में विचाराधीन कैदी की मौत के बाद भारी बवाल, परिजनों ने शव के साथ सड़क को किया जाम

बिहार के मधेपुरा में मंडल कारा के एक विचाराधीन कैदी की शनिवार को मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मौत हो गई। कैदी की मौत के बाद उसके परिजनों ने जमकर हंगामा किया। मृतक के परिजनों ने मद्य निषेध विभाग व पुलिस पर मृतक के साथ अमानवीय तरीके से मारपीट करने का आरोप लगाया। गुस्साए परिजनों ने सड़क जामकर दो घंटे तक यातायात बाधित रखा।

By Mohit Tripathi Edited By: Mohit Tripathi Published: Sat, 27 Apr 2024 10:03 PM (IST)Updated: Sat, 27 Apr 2024 10:03 PM (IST)
मधेपुरा में कैदी की मौत के बाद हंगामा, सड़क जाम। (जागरण फोटो)

जागरण संवाददाता, मधेपुरा। मधेपुरा मंडल कारा के विचाराधीन कैदी मोहंती मुखिया (40) की शनिवार को मेडिकल कालेज में उपचार के दौरान मौत होने के बाद स्वजन ने जमकर हंगामा किया।

मद्य निषेध विभाग व पुलिस पर मोहंती के साथ अमानवीय तरीके से मारपीट करने का आरोप लगाया। गुस्साए स्वजन ने कालेज चौक पर जाम लगाकर दो घंटे तक यातायात बाधित रखा।

स्वजन मामले में संलिप्त आरोपितों पर कार्रवाई करने व उचित मुआवजे की मांग कर रहे थे। यातायात बाधित होने की सूचना मिलने पर पहुंचे एसडीएम संतोष कुमार, एएसपी प्रवेंद्र भारती, सदर थानाध्यक्ष विमलेंदु कुमार ने स्वजन को समझा बुझाकर जाम हटाया।

पुलिस पदाधिकारियों ने मृतक के परिजनों को उचित मुआवजे का आश्वासन दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

मृतक की पत्नी अनीता देवी ने बताया कि मंगलवार 23 अप्रैल की रात नौ बजे पति मोहंती मुखिया भोज खाने जा रहे थे। उसी दौरान मद्य निषेद विभाग के अधिकारियों व पुलिस के जवानों ने उन्हें पकड़ लिया। इसके बाद दूसरे दिन बुधवार को पति को न्यायालय में पेश किया गया।

अनीता ने बताया कि न्यायालय परिसर में पति ने मुझे बताया कि मद्य निषेध विभाग की पुलिस ने मेरे साथ बेरहमी से मारपीट की है। इसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया।

अनीती ने बताया कि जेल में उनकी तबीयत खराब होने पर उन्हें 25 अप्रैल को इलाज के लिए मेडिकल कालेज भेज दिया गया। वहां इलाज के दौरान मोहंती मौत हो गई। मौत के बाद उसे पति के शव के पास जाने भी नहीं दिया गाय।

मामले में एएसपी प्रीवेंद्र भारती का कहना है कि शराब पीने के आरोप में मोहंती मुखिया को मद्य निषेध की टीम ने गिरफ्तार किया था। इसके दो दिन बाद तबियत खराब होने पर मेडिकल कालेज में भर्ती करवाया गया था। वहां इलाज के दौरान 27 अप्रैल की सुबह उसकी मौत हो गई। स्वजन के लिखित आवेदन पर जांचोपरांत कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही नियमानुसार मुआवजा भी दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Paper Leak: UP सिपाही भर्ती और बिहार शिक्षक भर्ती पेपर लीक में है बड़ा कनेक्शन! EOU खोल रहा सॉल्वर गिरोह की पोल

Tejashwi Yadav: 'मैं मछली बिहार में खाता हूं, कांटा दिल्ली में मोदी को चुभता है', तेजस्वी ने PM पर फिर कसे तंज


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.