मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रवीन्द्र वाजपेयी, भभुआ (कैमूर) : गुरुवार का दिन भभुआ के लिए ऐतिहासिक रहा। पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार अपराह्न साढे़ तीन बजे एकता चौक पर बने मंच से जैसे ही नगर परिषद अध्यक्ष ने ग्रीन भभुआ व क्लीन भभुआ की उद्घोषणा की तो लोगों की तालियों से पूरा वातावरण गूंज उठा। इसी के साथ राजस्थान के गुलाबी शहर जयपुर के सापेक्ष बिहार के कैमूर जिला मुख्यालय भभुआ को हरा शहर के रूप में पहचान मिल गई। भभुआ के विधायक डा. प्रमोद सिंह ने डीएम अरविंद कुमार सिंह को ग्रीन सिटी बनाने की सोच की सराहना की। नगरवासियों को मिलकर भभुआ को हराभरा व स्वच्छ बनाए रखने की नसीहत दी। डीपीएस के छात्रों ने देश में कैमूर व बिहार का गौरव बढ़ाने, भाईचारा एवं साम्प्रदायिक सद्भाव का संदेश हिन्दुस्तान को देने का संकल्प दिलाया। एमएलसी कृष्णा कुमार सिंह ने कहा कि जिलाधिकारी ने भारत के मानचित्र पर कैमूर के भभुआ नगर की जो ऐतिहासिक छाप छोड़ी है वह इतिहास के पन्नों पर अंकित हो गया।

नगर परिषद सभापति अमरदेव सिंह ने कहा कि नगर वासियों का दायित्व बनता है कि नगर को साफ सुथरा रखने में हर संभव अपनी मदद नगर परिषद को दें।

कैमूर के जिलाधिकारी अरविंद कुमार सिंह ने कहा कि दृढ़ इच्छा शक्ति हो तो हर बाधाओं को पार कर विकास की उंचाई को छुआ जा सकता है। जयपुर को पिंक सिटी बनाने में 4 वर्ष का समय लगा था। भभुआ को ग्रीन सिटी बनाने में मात्र चार माह का समय लगा। यह सब नगरवासियों के सहयोग एवं संकल्प का परिणाम है। जिलाधिकारी ने कहा कि उनका यह पहला सपना था। दूसरा सपना है दुर्गावती जलाशय परियोजना से जिले के किसानों को पानी दिलाना। डीएम ने कहा कि जल निकासी की समस्या से मुक्त भभुआ नगर के साथ-साथ कैमूर जिला विवाद मुक्त बने जिससे समाज में अमन चैन कायम रहे व शांति व समृद्धि हो। रामपुर प्रखंड से इसकी शुरुआत हुई है। कैमूर के पुलिस अधीक्षक रत्‍‌नमणि संजीव ने कहा कि प्रशासन व पब्लिक का सहयोग विकास की बड़ी लकीर खींचने में काफी महत्वपूर्ण है।

इस मौके पर स्वतंत्रता सेनानी अब्दुल सत्तार, जिला परिषद अध्यक्ष उमरावती देवी, उपाध्यक्ष मंजू कुमारी, जदयू जिलाध्यक्ष अशोक सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष जितेन्द्र कुमार पांडेय, उप सभापति नगर परिषद अमजद अली, समाज सेवी बिरजू पटेल, बीडीसी अजय सिंह के अलावा सभी प्रशासनिक व पुलिस पदाधिकारी और नागरिक उपस्थित थे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप