Move to Jagran APP

Manvi Madhu: पिता का छूटा साथ, पढ़ाई के लिए आश्रय गृह में की नौकरी; अब बनीं पहली ट्रांसजेंडर दारोगा

बांका जिले के पंजवारा की रहने वालीं मानवी मधु ने इतिहास रच दिया है। वह पहली ट्रांसजेंडर दारोगा बन गई हैं। उन्होंने फर्स्ट अटेम्प्ट में ही दारोगा परीक्षा पास कर ली। अपनी इस कामयाबी के साथ ही मानवी ट्रांसजेंडर समाज के लिए मार्गदर्शन बन गईं हैं। मानवी ने अपनी सफलता का श्रेय गुरु रहमान गुरु सुल्तान और अपने माता-पिता को दिया।

By Abhishek Prakash Edited By: Rajat Mourya Thu, 11 Jul 2024 10:06 AM (IST)
Manvi Madhu: पिता का छूटा साथ, पढ़ाई के लिए आश्रय गृह में की नौकरी; अब बनीं पहली ट्रांसजेंडर दारोगा
पहली ट्रांसजेंडर दारोगा बनीं मानवी मधु। (फाइल फोटो)

जागरण संवाददाता, भागलपुर। Manvi Madhu Kashyap बिहार की पहली ट्रांसजेंडर अवर निरीक्षक मानवी मधु बांका जिले के पंजवारा की रहने वाली हैं। उनके पिता स्वर्गीय नरेंद्र प्रसाद सिंह व माता माला देवी हैं। उन्होंने बताया कि घर में बड़ी होने के नाते उनके ऊपर बहुत जिम्मेदारियां थीं। इसी बीच पिता का भी साथ छूट गया।

उन्होंने अपने सपने को मरने नहीं दिया। आर्थिक समस्या को दूर करने के लिए उन्होंने आश्रय गृह (शेल्टर होम) में नौकरी की। जब मानवी को लगा कि वे अपनी कमाई से पढ़ाई पूरी कर सकती हैं तो उन्होंने फिर से पढ़ाई शुरू की। 2022 में वे पटना आ गईं और वहीं रहने लगीं।

गुरु रहमान और गुरु सुल्तान का मिला सहयोग

वहां उन्हें गुरु रहमान और गुरु सुल्तान का पूरा सहयोग मिला। इन दोनों ने उन्हें आर्थिक मदद भी दी। उनकी प्रारंभिक शिक्षा एसएस संपोषित हाई स्कूल, पंजवारा से हुई है। प्लस टू की पढ़ाई सीएनडी कालेज से की और सत्र 2018-21 में तिलकामांझी यूनिवर्सिटी से राजनीति शास्त्र में स्नातक किया।

'मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती'

मानवी ने बताया कि एक छोटे से गांव से निकलकर यहां तक का सफर कठिन रहा है। ट्रांसजेंडर होने के कारण उन्हें काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा। बावजूद, उन्होंने कभी अपने लक्ष्य को बोझिल नहीं होने दिया। सारी समस्याओं से लड़ते हुए उन्होंने यह मुकाम प्राप्त किया। मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती।

वहीं, गुरु रहमान ने बताया कि शुरुआती दिनों से ही मानवी में कुछ अलग करने की जिज्ञासा थी। मानवी अपनी पढ़ाई के साथ-साथ हर चीज में अव्वल है। काफी मेहनती है। वह ट्रांसजेंडर समाज के साथ-साथ हर उस वर्ग की मार्गदर्शक है, जो संघर्ष कर रहा है।

ये भी पढ़ें- Bihar News: मंत्री जी के गांव जाने वाली सड़क की पुलिया गिरी, JDU नेता ने सरकारी अधिकारी पर लगाया आरोप

ये भी पढ़ें- Araria News: पत्रकार विमल हत्याकांड के मुख्य आरोपी का मर्डर, हमलावर ने घात लगाकर मारी गोली