जागरण संवाददाता, भागलपुर। तीन मार्च 2022 की रात 11.30 बजे हुए भीषण धमाके में भागलपुर पुलिस ने पहली कार्रवाई करते हुए 15 लोगों की हत्या, जानलेवा हमले और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम मामले में जख्मी नवीन मंडल उर्फ नवीन आतिशबाज को गिरफ्तार कर लिया है। स्थानीय तातारपुर पुलिस उसे विधिवत गिरफ्तारी की सूचना दे जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में पुलिस अभिरक्षा में उसका उपचार कराया जा रहा है। अस्पताल परिसर में मौजूद बरारी कैंप पुलिस को भी निगरानी करने का निर्देश दिया गया है। धमाके में नवीन आतिशबाज के पैर, हाथ और अन्य हिस्से में गंभीर जख्म लगे हैं। रविवार को नवीन से एटीएस, एसआइटी और धमाका कांड में संगीन आरोपों में केस दर्ज होने के बाद जांचकर्ता प्रभारी तातारपुर थानाध्यक्ष सुनील कुमार झा ने उससे पूछताछ की। नवीन एटीएस, एसआइटी और जांचकर्ता को दिये गए बयान में अंतर बताया जा रहा है। वह बार-बार बयान बदल रहा है।

धमाके के मास्टर माइंड मुहम्मद आजाद की भूमिका, उसकी गतिविधियों को लेकर नवीन से हुई पूछताछ में कई तरह के सवाल दागे गए। जमीन-मकान की रजिस्ट्री लीलावती के कुनबे से करा लेने के बाद भी उसके कुनबे को वहां रखकर धंधे में संलिप्त होने, पूंजी लगाने आदि से जुड़े सवालों पर नवीन ने पुलिस को भ्रमित करने का प्रयास किया। धमाके की जांच को गठित भागलपुर की एसआइटी ने धमाके के मास्टर माइंड मुहम्मद आजाद की तलाश में रविवार को भी कई जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की। उसका पता नहीं चल सका है।

इधर, एटीएस और बीडी टीम को धमाके वाले स्थल पर शेष बचे मलबे को हटाने के क्रम में कील और सफेद-काले पालीथीन शीट के अलावा चीथड़े हो चुके एक प्लास्टिक की बारूद वाली प्लास्टिक बोरी और एक प्रेशर कूकर हाथ लगे हैं। मलबा हटाने के काम में लगाए गए मजदूरों ने उसे पुलिसकर्मियों को सौंप दिया है। उसकी बाकायदा सूची तैयार कर तातारपुर थाना परिसर में रखा गया है। मलबा हटाने की प्रक्रिया के बीच बीडी टीम ने जांच उपकरणों से वहां विस्फोटकों की भी तलाश की।

पुलिस की अलग-अलग टीम ने कई इलाके में चलाया तलाशी अभियान

शनिवार की देर रात से रविवार की सुबह तक विस्फोटक पदार्थों की बरामदगी के लिए काजवलीचक के अलावा टिकिया टोली लेन, यतीमखाना गली, रजक टोली, उर्दू बाजार रोड, गांधी शांति प्रतिष्ठान वाली गली में भी तलाशी अभियान चलाया। शनिवार की देर रात चलाए अभियान में पुलिस ने बारूद की कई पोटलियां बरामद की थीं। उसे जांच को तातारपुर पुलिस ने फारेंसिक टीम के पास भेजने की कवायद शुरू कर दी है। हिरासत में लिए गए चार लोगों का नाम-पता सत्यापित कर बांड पर मुक्त कर दिया गया है। बरामद पाउडर बारूद है या नहीं इसकी पुष्टि के बाद उनके विरुद्ध केस दर्ज करने की बात कही गई है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla