नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। कोरोनावायरस महामारी के चलते ऑटो इंडस्ट्री 24 मार्च से बंद पड़ी है। एहतियाती दृष्टिकोण के चलते दुनियाभर के वाहन निर्माताओं ने लगभग मार्च के मध्य तक प्रोडक्शन बंद कर दिया था और जल्द ही भारत में भी इस प्रथा को अपनाया गया। टाटा मोटर्स पहली ऐसी कार निर्माता कंपनी है जिसने 21 मार्च को लॉकडाउन से पहले ही अपने चाकण प्लांट में प्रोडक्शन को कम कर दिया था, जब महाराष्ट्र में सकारात्मक रूप से कोरोनावायरस के मामले बढ़ रहे थे।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) फाइलिंग के मुताबिक देश में कार निर्माता कंपनी ने मार्च महीने में प्रोडक्शन में 75.29 फीसद की गिरावट दर्ज की है। कंपनी ने पिछले महीने सिर्फ 16,051 यूनिट्स की मैन्युफैक्चरिंग की है, जबकि मार्च 2019 में यह आंकड़ा 64,977 यूनिट्स का रहा था। इसमें पैसेंजर व्हीकल्स (PV) और कमर्शियल व्हीकल्स (CV) दोनों शामिल हो। हालांकि, कमर्शियल वाहन बिजनेस में 90.21 फीसद की सबसे ज्यादा गिरावट देखी गई है और कंपनी ने सिर्फ 4663 यूनिट्स की मैन्युफैक्चरिंग की है, जबकि मार्च 2019 में यह आंकड़ा 47,632 यूनिट्स का रहा था। पैसेंजर व्हीकल्स में 34.34 फीसद की गिरावट के साथ 11,388 यूनिट्स का प्रोडक्शन हुआ है, जबकि पिछले साल मार्च में यह आंकड़ा 17,345 यूनिट्स का रहा था।

सेल्स और प्रोडक्शन की बात करें तो मार्च महीने में पहले ही यह काफी प्रभावित हुआ है और लगातार देश में कोरोनावायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं। कंपनी ने मार्च 2020 में 84 फीसद की गिरावट के साथ 11,012 यूनिट्स की बिक्री की है, जबकि मार्च 2019 में यह आंकड़ा 68,727 यूनिट्स का रहा था। पैसेंजर व्हीकल्स की बिक्री में इस साल मार्च महीने में 68 फीसद की गिरावट के साथ 5676 यूनिट्स की बिक्री हुई है, जबकि मार्च 2019 में यह आंकड़ा 17,810 यूनिट्स का रहा था। कमर्शियल वाहन की बिक्री की बात करें तो यह 87 फीसद की गिरावट के साथ 7123 यूनिट्स रहा है, जबकि मार्च 2019 में यह आंकड़ा 56,536 यूनिट्स का रहा था। 

Posted By: Ankit Dubey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस