नई दिल्ली (श्रीधर मिश्रा)। Honda CB300R भारत में लॉन्च हो गई है। कंपनी ने अपनी इस बाइक की कीमत 2.41 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) रखी है। भारतीय बाजार में इसका मुकाबला Bajaj Dominar 400, BMW G310R, Royal Enfield Interceptor 650 और KTM Duke 390 जैसी बाइक्स से होगा। Honda CB300R की लॉन्च इवेंट के दौरान हमने Honda Motorcycle and Scooter India के सेल्स एंड मार्केटिंग के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, यादविंदर सिंह गुलेरिया से EXCLUSIVE सवाल पूछे जिनका उन्होंने बेबाकी से जवाब दिया। ये हैं इंटरव्यू के अंश,

Honda CB300R की तीन सबसे बड़ी खासियत को कैसे समझाएंगे आप?

यादविंदर सिंह गुलेरिया: मैं इसे 3-M में समझाउंगा। पहला है- Minimalistic styling, इसके अंदर बाइक के वो सारे कॉम्पोनेट्स हैं जिससे बाइक के भार को सेंटर ऑफ ग्रेविटी के आस-पास कॉन्सनट्रेट किया गया है। इससे बाइक पर राइडर का पूरा कंट्रोल रहेगा, जिससे संतुलित और आरामदायक राइडिंग का अनुभव मिलेगा।

दूसरा M है- Modern attitude, Café Racer फैमिली से होता हुआ भी ये रेट्रो प्लस स्टाइल में है। इसके अंदर हमने सारी LED लाइट्स दी हैं, चाहे फिर वो हेडलैंप्स (Headlamps) हो, टेल लाइट (Tail Lights) हो, इंडीकेटर (Indicator) के साथ LCD डिजिटल पैनल दिए गए हैं। इसका टॉर्क-टू-वेट (torque to weight ratio) बेस्ट इन क्लास है।

वहीं, तीसरा M है- Metalic accent, बाइक के अंदर मेटल को हाईलाइट करके इसपर फोकस किया गया है। इससे राइडर को एक माचो अपील मिलेगी।

यानी ओवरऑल बात की जाए तो राइडिंग में अच्छा, देखने में अच्छा, कीमत हमने बताया है 2.41 लाख पैन इंडिया प्राइस जो की एक डीसेंट रेंज है।

Honda CB300R को CKD (completely knocked down-parts) के जरिए भारत में आयात (import) किया गया है। ऐसे में क्या इस बाइक के सभी पार्ट्स का आयात (import) किया जाएगा या इसके कुछ पार्ट्स भारत में बनेंगे (manufature)?

यादविंदर सिंह गुलेरिया: इस बाइक को ज्यादातर इंपोर्ट किया गया है। यह तीसरा CKD लाइन बाइक होगा जो मेक इन इंडिया (Make In India) में हम बना रहे हैं।

क्या आने वाले समय में इस बाइक की भारत में मैन्युफेक्चिंग बढ़ेगी?

यादविंदर सिंह गुलेरिया: जब हमने Honda CB300R की जनवरी के बीच में बुकिंग शुरू होने की घोषणा की थी, तो हमे अच्छा रिस्पॉन्स (प्रतिक्रिया) मिला। हमारे तीन महीने की प्रोडक्शन बुक हो चुकी है, लेकिन हमारी जो CKD लाइन है अगर हम उसमें डबल शिफ्ट चलाते हैं, तब हम इसका उत्पादन बढ़ा सकते हैं। हालांकि, यह पूरी तरह से मांग पर निर्भर करता है। अगर मांग ज्यादा होगा तब हम शिफ्ट बढ़ा कर जल्द से जल्द सप्लाई करेंगे, ताकी ग्राहक को ज्यादा इंतजार न करना पड़े।

Honda CB300R के भारतीय वर्जन में MRF के टायर्स इस्तेमाल किए गए हैं। जबकि, ग्लोबल मॉडल में प्रीमियम Dunlop टायर्स, इस पर क्या कहेंगे आप?

यादविंदर सिंह गुलेरिया: कोई भी चीज जो इस मॉडल में दी गई है वो ट्राइड एंड टेस्टेड है। इसमें होंडा के सारे सेफ्टी और परफॉर्मेंस नॉम्स को देखते हुए ही बदलाव किया गया है। भारत की सड़कों को ध्यान में रखकर इसमें बेस्ट इन क्लास फीचर्स दिए गए हैं।

Honda CB300R का मुकाबला Bajaj Dominar 400, BMW G310R, Royal Enfield Interceptor 650 और KTM Duke 390 जैसी बाइक्स से है। ऐसे में Honda CB300R में ऐसा क्या है जो ग्राहक इसे पसंद करेंगे?

यादविंदर सिंह गुलेरिया: यह ग्राहक तय करेंगे। यह हम नहीं बता सकते हैं। हां, हम CKD के जरिए जो बाइक ला रहे हैं, उसमें अच्छे फीचर्स के साथ डीसेंट कीमत पर बेच रहे हैं। बुकिंग से अब तक हमें ग्राहकों का साथ मिल रहा है और जब ग्राहक इस बाइक को चलाएंगे तब उन्हें असली अंतर पता चलेगा।

हाल ही में कंपनी के सेल्स में गिरावट देखी गई है। ऐसे में आपने कहा कि इस नए बजट से आपको उम्मीद है। इस पर क्या कहेंगे आप?

यादविंदर सिंह गुलेरिया: देखिए, जिस इंडस्ट्री और बिजनेस में हम हैं, उसमें उम्मीद तो हमेशा रखेंगे। अभी जो बजट में घोषणाएं हुई हैं उसका सीधा या जल्द असर बिक्री पर महीने या हफ्ते में आएगा ऐसा तो नहीं है, लेकिन हम इसे नकार भी नहीं सकते हैं कि एक इनकम टैक्स देने वाले के लिए साल में 12,500 रुपये की बचत एक अच्छी रकम है, अगर इसे EMI की तरह देखें तो यह बहुत मदद करेगा। क्योंकि टू-व्हीलर खरीदने वाले ज्यादातर लोग मिडिल क्लास से आते हैं तो आगे जाकर यह बहुत मदद करेगा। इसके अलावा स्टैंडर्ड रेट और इंट्रस्ट (interest) में सेविंग के साथ अच्छी रोड और इंफ्रास्ट्रक्चर टू-व्हीलर की आगे और मांग बढ़ाएगा।

BS-6 नॉम्स कितनी बड़ी चुनौती है आपके लिए?

यादविंदर सिंह गुलेरिया: जब हम BS-4 से BS-6 की बात करते हैं, तो दोनों को पता है कि इसमें BS-5 गायब (missing) है। यह एक बड़ी चुनौती है, क्योंकि ग्लोबली कहीं भी ऑटो इंडस्ट्री में ऐसा नहीं देखा गया है कि एक स्टेप को सीधे छोड़ (miss) दिया गया हो। 3 साल के अंदर-अंदर BS-4 से BS-6 में बदलाव तकनीक के रूप से एक बड़ी चुनौती है, लेकिन Honda ग्लोबली अपने RND के लिए जानी जाती है, तो हमे पूरा सपोर्ट मिल रहा है और हम तय समय से पहले सारी लाइन-अप को BS-6 में बदल लेंगे।

BS-4 या BS-6 में किस बाइक की बिक्री आपके लिए ज्यादा चुनौती भरी होगी?

यादविंदर सिंह गुलेरिया: कीमत की बात करें तो BS-4 से BS-6 तक में तकनीक का एक बहुत बड़ा बदलाव है। इसके अलावा ABS और CBS जैसे ब्रेकिंग नॉम्स को भी जोड़ लें, तो आज जो बाइक की कीमत है और जो आगे जो बाइक की कीमत होगी उसमें एक बड़ा अंतर देखने को मिलेगा। ऐसे में हमे लगता है कि बाइक की बिक्री में एक स्लोडाउन (गिरावट) देखने को मिल सकती है। हम लेकर चल रहे हैं कि कीमत में बदलाव ग्राहक के लिए शुरुआती दौर में थोड़ा मुश्किल रहेगा, जिसका असर टू-व्हीलर बाजार पर देखने को मिलेगा।

अब छोटे शहरों और गांवों में भी तेजी से सड़कें बन रही हैं, इनफ्रास्ट्रक्चर मजबूत हो रहा है। ऐसे में इन जगहों पर रहेने वालों ग्राहकों को कैसे टारगेट करेंगे आप?

यादविंदर सिंह गुलेरिया: हमारे लिए किसी भी शहर या गांव का ग्राहक एक बराबर है। हम हर जगह अपनी बाइक्स को नहीं बेच रहे हैं, हम सिर्फ उन्हीं जगहों पर अपनी बाइक बेच रहे हैं, जहां हम ग्राहक को बिक्री के बाद (after sales) भी सर्विस दे सकें। हां, अगर ग्राहक को किसी और जगह से बाइक खरीदना है, तो हम एक मिनिमम अमाउंट पर उसके घर पर सर्विस देते हैं।

यह भी पढ़ें:

भारत में 10 लाख रुपये से कम कीमत में ये हैं 5 सबसे लेटेस्ट कारें, जानें कीमत और फीचर्स

सड़क पर गाड़ी चलाते समय इन 8 गलतियों से कट सकता है चालान, हो सकती है जेल

2019 में भी धमाल मचाएंगी ये 6 बाइक्स, जानें कीमत और फीचर्स

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021