मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, अंकित दुबे। इन दिनों भारतीय बाजार में कॉम्पैक्ट एसयूवी सेगमेंट में कई नए मॉडल्स आ चुके हैं। हाल ही में Kia Seltos भी कई सेगमेंट फर्स्ट फीचर्स और BSVI इंजन के साथ एक किफायती कीमत में लॉन्च की गई है, जिसके चलते भारत में मौजूद पॉपुलर Hyundai Creta और Renault Duster की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। हालांकि, Duster का भी फेसलिफ्ट अवतार कुछ दिनों पहले ही लॉन्च किया गया है, जो पहले से ज्यादा स्टाइलिश और प्रीमियम लगता है। खैर, Duster हमेशा से ही अपनी सिंपल डिजाइन की सादगी में ही काफी पॉपुलर होती आई है। इसकी ड्राइविंग डायनामिक्स आज भी लोगों के बीच बातचीत का विषय बनी रहती है, जिसके चलते हमने भी Renault Duster का डीजल AMT मॉडल कंपनी से लॉन्ग टर्म रिव्यू के लिए मंगवाया और इसकी पहली रिपोर्ट में हमने इसे करीब 2,000 किलोमीटर तक चलाया। सिटी ड्राइव, बंपर टू बंपर ट्रैफिक और हाईवे पर हमें क्या पसंद आया और कहां निराशा हुई, इस पूरी रिपोर्ट में आपको पढ़ने को मिलेगा।

डस्टर का बॉक्सी डिजाइन और स्पेस इस एसयूवी की एक यूएसपी रही है। इतना ही नहीं, अगर आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जा रहे हैं, तो Duster में सामान रखने की क्षमता काफी अच्छी है और 5 लोग इसमें आसानी से कहीं भी घूम सकते हैं। हमें इसमें जो सबसे ज्यादा पसंद आया वो Duster में मिलने वाला 1.5 लीटर डीजल इंजन है, जो काफी स्मूथ और पावरफुल है। 1,500 - 1,600 rpm पर इंजन की शुरुआत होती है, जिसमें ऐसा एहसास होता है कि आप पेट्रोल इंजन वाली कार तो नहीं चला रहे। ज्यादा Rev पर आपको इसमें हल्की वाइब्रेश का अहसास होगा, लेकिन इसकी रिफाइनमेंट सेगमेंट में काफी बेहतर है।

अब दूसरी बड़ी हाईलाइट की बात करें तो इसमें सबसे ज्यादा पसंद इसका राइड कंफर्ट है, कोई मतलब नहीं है आप कैसी सड़कों पर चला रहे हैं, अच्छा खासा ग्राउंड क्लियरेंस और सस्पेशन इतनी अच्छी तरह से काम करते हैं कि ऊबड़-खाबड़ सड़क को ये आसानी से पार कर जाती है और अंदर बैठे यात्रियों को इसका अहसास भी नहीं होता। छोटे-मोटे गढ्ढे और ऊबड़-खाबड़ रोड तो इसके लिए किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं है। हाईवे पर चलाने में इसकी परफॉर्मेंस काफी स्मूथ है। हमारे पास AMT Duster मौजूद है, बम्पर टू बम्पर ट्रैफिक और सिटी ड्राइव में हमारी माइलेज टेस्ट में Duster AMT से 12-13 kmpl का माइलेज मिला। वहीं, हाईवे पर इसने 15-16 kmpl का माइलेज दिया।

अब बात करते हैं हमें Duster AMT में किस चीज ने निराश किया, तो AMT गियरबॉक्स के साथ ड्राइविंग इसकी अच्छी है, लेकिन ऑटोमैटिक मोड पर गियर शिफ्टिंग में यह झटका देती है, जिसे सुधारा जा सकता है। हालांकि, मुझे उम्मीद है नई Duster में कुछ सुधार हुए होंगे, लेकिन नई Duster के बारे में भी तभी बता सकेंगे जब हम उसे चलाएंगे। फिलहाल ये पुरानी है तो इसमें इसका साउंड सिस्टम और टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम काफी पुराना लगता है और ये इतना मजेदार नहीं है, जितना इस सेगमेंट की दूसरी गाड़ियों में है, लेकिन नई Duster में कंपनी ने सुधार किए हैं।

कुल मिलाकर हमें अभी इसी Duster ने इंजन के मामले में काफी खुश किया है, फीचर्स के मामले में निराश हुए हैं। माइलेज भी ठीक ठाक मिला है, लेकिन 1.5 लीटर इंजन के साथ दूसरी गाड़ियों के मुकाबले ये थोड़ा कम है। इसमें कम्फर्ट जबरदस्त दिया गया है। बिल्ड क्वालिटी भी एक दम मजबूत लगती है। अगली रिपोर्ट में हम जानेंगे कि क्या ये बेहतरीन कॉम्पैक्ट एसयूवी में से एक होगी ? दूसरी रिपोर्ट के लिए जागरण ऑटो के साथ बने रहिए, क्योंकि यहां हम Duster AMT का लॉन्ग टर्म रिव्यू कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें:

Renault Captur Petrol Review: क्यों खरीदें, क्यों ना खरीदें

Hyundai Kona Electric First Drive Review: भरपूर स्पेस, पावरफुल एसयूवी

Posted By: Ankit Dubey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप