नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। आज हम आपको कुछ ऐसी गलतियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके नई कार की इंजन से लेकर दूसरे फीचर्स पर बहुत बुरा असर डाल सकती हैं। दरअसल ग्राहक नई कार की खुशी में कुछ ऐसी बातों की अनदेखी कर देते हैं, जो उनके कार की लाइफ और परफॉर्मेंस पर बुरा असर डालती हैं। इससे इंधन की खपत तो ज्यादा होती ही है साथ में मैंटेनेंश कॉस्ट भी बढ़ जाता है।

मैनुअल- कई बार ग्राहक कार के मैनुअल को बिना पढ़े इसका इस्तेमाल करने लगते हैं, जिसके चलते बाद में उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है। दरअसल हर कार में अगल तकनीक और फीचर्स का इस्तेमाल होता है। इसके अलावा हर साल तकनीक में कुछ न कुछ बदलाव देखने को मिल रहे हैं। ऐसे में कार खरीदने के बाद मैनुअल को पूरा पढ़ें और उसमें दी जानकारी और निर्देषों का पालन करें।

पहली सर्विस- नई कार खरीदने की पहली सर्विस से पहले का बाद - पहली सर्विस होने तक तो हर नई कार को खास ख्याल की जरुरत होती है। शुरुआती दिनों में इंजन नया होता है तो यह भी बाकि पुर्जों से तारतम्य बैठा रहा होता है। यही हाल इलेक्ट्रॉनिक्स आयटम का भी होता है, जो बैट्री से आने वाले फ्लो से जूझ रहे होते हैं। इन हालात में कोई भी गड़बड़ होने पर सीधे कंपनी सर्विस स्टेशन से संपर्क करें। चीजोंं को टालना भारी पड़ सकता है।

छोटी यात्रा- अगर आपने नई कार खरीदी हैं, तो अच्छा रहेगा की आप कम दूरी वाली यात्रा का इस कार से कम करें। दरअसल कार का इंजन नया होता है, ऐसे में कम दूरी की यात्रा करने पर इंजन सही से ट्यून नहीं हो पाता। हां, पहली सर्विस के बाद आप इससे अपने मनमुताबिक दूरी का यात्रा आसानी से तय कर सकते हैं और कार के इंजन पर इसका असर नहीं पड़ता है।

ओवर लोडिंग- वैसे तो कार में वजन का हमेशा ध्यान रखना चाहिए, लेकिन अगर आपकी कार नई है तब तो और भी ध्यान देने की जरुरत है। नई कार में ज्यादा लोड का सीधा असर इसके इंजन पर होता है, जिससे इसकी परफॉर्मेंस और लाइफ पर असर पड़ता है।

एक्सीलरेशन- नई कार पर अचानक एक्सिलरेट करना इसके इंजन पर बुरा असर कर सकता है। ऐसे में कार की एक्सीलरेशन का जरूर ध्यान दें। इसके अलावा इस बात का भी ध्यान रखें की किसी भी हालात में आपकी कार का आरपीएम मीटर लाल निशान के पार न जाए, वरना ज्यादा इंधन की खपत के साथ आपके कार के इंजन की ट्यूनिंग भी इसका बुरा असर पड़ सकता है।

क्रूज कंट्रोल- नई कार में क्रूज कंट्रोल के विचार को भूल ही जाना चाहिए। ऑटोमैटिक कार में क्रूज कंट्रोल का खास फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन मैनुअल कारों में इसका बुरा असर पड़ सकता है। दरअसल क्रूज कंट्रोल में लंबे समय तक कार की स्पीड मैंटेन करनी पड़ती है, जो इसके नए इंजन के लिए ठीक नहीं होती है।

टोइंग- नई कार से भुल कर भी टोइंग न करें। इससे कार की इंजन और दूसरे फीचर्स पर बुरा असर पड़ता है। पहली सर्विस के बाद आप टोइंग का विचार अपने दिमाग में ला सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

भारत में 10 लाख रुपये से कम कीमत में ये हैं 5 सबसे लेटेस्ट कारें, जानें कीमत और फीचर्स

सड़क पर गाड़ी चलाते समय इन 8 गलतियों से कट सकता है चालान, हो सकती है जेल

2019 में भी धमाल मचाएंगी ये 6 बाइक्स, जानें कीमत और फीचर्स 

Posted By: Shridhar Mishra