मास्को (एएफपी)। रूस ने साफ कर दिया है कि वो जरूरत पड़ी तो यूक्रेन पर परमाणु हमला करने से पीछे नहीं हटेगा। क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्‍काव ने सीएनएन से हुई बात में कहा है कि यदि रूस के ऊपर किसी तरह का खतरा होता है तो वो न्‍यूक्लियर वेपंस का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। दिमित्री के बयान से अमेरिका के बयानों की कहीं न कहीं पुष्टि होती हुई भी दिखाई दे रही है। बता दें कि अमेरिका ने दो-तीन बार इसी तरह की आशंका जताई है कि रूस यूक्रेन पर परमाणु हमला कर सकता है। 

गौरतलब है कि रूस ने यूक्रेन पर 24 फरवरी को हमले करने शुरू किए थे। का अब इस युद्ध को एक माह होने वाला है। ऐसे में इसमें काफी कुछ बदलाव आ चुका है। शुरुआत में रूस ने हमलों के लिए छोटे हथियारों और पैदल सेना का इस्‍तेमाल किया था। इसमें सबसे आगे उसके टैंक थे। बाद में उसने बड़े हथियार जिनमें मिसाइलें शामिल थी, का इस्‍तेमाल शुरू किया। इसके बाद उसने हाइपरसोनिक मिसाइल और एयर स्‍ट्राइक का इस्‍तेमाल इस युद्ध में किया है। ऐसे में रूस की तरफ से आए बयान  काफी महत्‍व बढ़ गया है। 

इस युद्ध की वजह से अब तक 30 लाख लोग शरणार्थियों की तरह जीवन बिताने को मजबूर हो रहे हैं। यूक्रेन के कई शहरों में इमारतें मलबे में तब्‍दील हो चुकी हैं। मैक्‍सर टेक्‍नालाजी की सेटेलाइट की तस्‍वीरों में इरपिन शहर में हुई तबाही को देखा जा सकता है। संयुक्‍त राष्‍ट्र महासचिव लगातार यूक्रेन के हालात पर चिंता जताते रहे हैं। उन्‍होंने हाल ही में कहा है कि यूक्रेन के मारियुपोल से हजारों लोग दूसरे देशों में शरण ले चुके हैं। इस शहर पर रूस जबरदस्‍त बमबारी कर रहा है। 

Edited By: Kamal Verma