Move to Jagran APP

दशकों तक चल सकता है यूक्रेन युद्ध, दिमित्री मेदवेदेव बोले- परमाणु युद्ध के खतरे को कम करके आंक रहे पश्चिमी देश

रूस में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के विश्वस्त सहयोगी दिमित्री मेदवेदेव ने यूक्रेन युद्ध के दशकों तक चलने की आशंका जताई है। मेदवेदेव ने पश्चिमी देशों पर परमाणु युद्ध के खतरे को भी कम करके आंकने का आरोप लगाया। फाइल फोटो।

By Jagran NewsEdited By: Sonu GuptaPublished: Sat, 27 May 2023 05:20 AM (IST)Updated: Sat, 27 May 2023 05:20 AM (IST)
दशकों तक चल सकता है यूक्रेन युद्धः दिमित्री मेदवेदेव। फाइल फोटो।

मास्को, रायटर। रूस में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के विश्वस्त सहयोगी दिमित्री मेदवेदेव ने यूक्रेन युद्ध के दशकों तक चलने की आशंका जताई है। उन्होंने कहा कि युद्धविराम के लिए यूक्रेन के साथ बातचीत तब तक संभव नहीं है जब तक पश्चिमी देशों के समर्थित राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की सत्ता में हैं।

परमाणु युद्ध का बढ़ रहा है खतरा

मेदवेदेव ने पश्चिमी देशों पर परमाणु युद्ध के खतरे को भी कम करके आंकने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि वे स्थिति की गंभीरता को समझ पाने में विफल हैं। रूस में मेदवेदेव का महत्व इसी से समझा जा सकता है कि पुतिन ने 24 वर्ष के अपने सत्ताकाल में उन पर भरोसा जताते हुए अपनी जगह केवल उन्हें ही राष्ट्रपति बनाया। पुतिन ने ऐसा संवैधानिक व्यवस्था का पालन करने के लिए किया था।

कई दशकों तक चल सकता है रूस-यूक्रेन युद्ध

मेदवेदेव इस समय रूस की शक्तिशाली सुरक्षा परिषद के उप प्रमुख हैं, इस परिषद के प्रमुख राष्ट्रपति पुतिन हैं। मेदवेदेव ने साफ कर दिया है कि द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद छिड़े यूरोप के इस सबसे भीषण युद्ध का अंत जल्द नहीं होने वाला है। फरवरी 2022 से जारी यह युद्ध कई दशकों तक चल सकता है। इसका सबसे बड़ा कारण अमेरिका सहित पश्चिमी देशों द्वारा यूक्रेन को बड़े पैमाने पर हथियारों की आपूर्ति है।

लंबे समय तक चल सकता है युद्ध

रूसी समाचार एजेंसी से वार्ता में मेदवेदेव ने कहा कि यूक्रेन युद्ध का बहुत लंबे समय चलना वर्तमान की सच्चाई है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कीव में बैठी सरकार किसी तरह के समझौते के लिए तैयार नहीं है। वह ऐसी बातें कर रही है जो असंभव हैं।

मेदवेदेव ने जेलेंस्की को बताया जोकर

उन्होंने जेलेंस्की को जोकर बताते हुए उनके साथ बातचीत की संभावना से इन्कार किया। मेदवेदेव ने आगे कहा कि हर समस्या बातचीत से खत्म हो सकती है लेकिन जब तक यह व्यक्ति (जेलेंस्की) सत्ता में रहेगा, तब तक बातचीत नहीं हो सकती है। मेदवेदेव ने 2008 से 2012 तक राष्ट्रपति रहने के दौरान उदारवादी छवि प्रदर्शित की थी लेकिन अब वह पश्चिमी देशों के कटु आलोचक बनकर उभरे हैं।

परमाणु हमला करने से नहीं हिचकेगा रूस

मेदवेदेव ने साफ कहा कि पश्चिमी देश परमाणु युद्ध के खतरे का भी सही आकलन नहीं कर रहे हैं। अगर यूक्रेन ने परमाणु हथियार प्राप्त करने की कोशिश की तो रूस उस पर परमाणु हमला करने से नहीं हिचकेगा।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.