इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान में चीफ आफ आर्मी स्टाफ (COAS) को चुना जाना है। इसके लिए तहरीक-ए-इंसाफ प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने अपनी मांग रखी है कि इस पद पर नियुक्ति योग्यता के आधार पर किया जाएगा। साथ ही यही भी चेताया कि वे इस पद पर चुनाव का अधिकार नवाज शरीफ को नहीं लेने देंगे।

मंगलवार को उन्होंने नवाज शरीफ की ओर इशारा करते हुए कहा था कि चीफ आफ आर्मी स्टाफ की नियुक्ति के लिए दोषी से सलाह ली जा रही है। प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को क्राइम मिनिस्टर के नाम से संबोधित करते हुए इमरान खान ने ट्वीट किया और लिखा, 'क्राइम मिनिस्टर COAS व अन्य मामलों में दोषी नवाज शरीफ से सलाह ले रहे हैं।

नवाज शरीफ पर इमरान का हमला

इमरान ने अपनी मांग दोहराई और कहा कि COAS का चुनाव योग्यता के तहत होगा ओर चोरों को इस काम के लिए कभी भी इजाजत नहीं दी जाएगी। लाहौर में इमरान खान वकीलों के एक कंवेंशन को संबोधित कर रहे थे। इसकी जानकारी द नेशन में प्रकाशित एक रिपोर्ट में दी गई है। इसमें यह भी बताया गया है कि शनिवार को पार्टी 'हकीकी आजादी' मूवमेंट का आगाज करने वाली है। इमरान खान ने कहा, 'मैं एक आवाज दूंगा और हम अपने देश को वास्तविक मूल्यों में आजाद करा लेंगे।' इसके पहले देश की मौजूदा सरकार ने इस्लामाबाद के रेड जोन में सुरक्षा इंतजामों को तैनात किया था और कहा था, ' कुछ लोग अपनी राजनीतिक मांगों को पूरा कराने के लिए इस्लामाबाद की ओर बढ़ रहे हैं।'

पीपीपी और पीएमएल-एन से नहीं हो आर्मी चीफ 

PTI प्रमुख ने बुधवार को दिए गए अपने भाषण में एक बार फिर कहा कि जो अज्ञात नंबरों से धमकियां दे रहे हैं उन्हें इसका जवाब दिया जाना चाहिए। सोमवार को चकवाल में भी जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने इस बात का जिक्र किया था। PTI प्रमुख ने कहा कि जब वे कहते हैं कि आर्मी चीफ का चुनाव योग्यता के आधार पर किया जाना चाहिए तो इसका मतलब है पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज से अगला COAS नहीं बनना चाहिए क्योंकि वे सबसे अधिक भ्रष्ट हैं और इनके पास योग्यता नहीं है।

Edited By: Monika Minal