Move to Jagran APP

पाकिस्तान के डेरा इस्माइल खान में गोलीबारी की वारदात, दो लोगों की मौत; बलूचिस्तान में मिला हथियारों का जखीरा

पाकिस्तान में दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। एक मामला पाकिस्तान के डेरा इस्माइल खान शहर से सामने आया तो दूसरा मामला डेरा इस्माइल खान की दाराजांडा तहसील से सामना आया। पाकिस्तान में सांप्रदायिक और जातीय हिंसा एक नियमित मामला बन गया है।

By AgencyEdited By: Piyush KumarPublished: Thu, 23 Mar 2023 06:15 PM (IST)Updated: Thu, 23 Mar 2023 06:15 PM (IST)
पाकिस्तान में गोलीबारी की अलग-अलग घटनाओं में दो लोगों की मौत हो गई।

इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान में गोली लगने से दो लोगों की मौत हो गई। पाकिस्तानी समाचार एजेंसी डॉन के मुताबिक, गोलीबारी की दो अलग-अलग घटनाएं घटी। डॉन ने पुलिस के हवाले से बताया कि गोलीबारी की अलग-अलग घटनाओं में दो लोगों की मौत हो गई।

एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, पाकिस्तान के डेरा इस्माइल खान शहर के नवाब अड्डा में परोवा तहसील के असलम बलूच पर अज्ञात मोटरसाइकिल सवारों ने हमला कर दिया। वो अपनी पत्नी के साथ मोटरसाइकिल से जा रहे थे। इस गोलीबारी में असलम बलोच गंभीर रूप से घायल हो गए।

असलम बलूच के परिवारवालों को बनाया गया था निशाना

इसके बाद उन्हें तुरंत उन्हें मुल्तान रेफर कर दिया गया। हालांकि रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। गनीमत रही कि असलम बलोच की पत्नी इस हमले में बाल-बाल बच गईं। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने असलम बलूच की हत्या को सांप्रदायिक हिंसा का परिणाम करार दिया। न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक पिछले महीने असलम बलोच के परिवार के दो युवकों को भी निशाना बनाया गया था. डेरा इस्माइल खां में अब तक उसके परिवार के 29 सदस्य टारगेट किलिंग के शिकार हो चुके हैं।

छह लोगों ने सुल्तान शाह शिराजी पर किया था हमला

वहीं, गोलबारी की एक अलग घटना में शिरानी जनजाति के 66 वर्षीय सुल्तान शाह शिराजी की डेरा इस्माइल खान की दाराजांडा तहसील गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। प्रतिवेदन। पीड़ित के बेटे ने दरजंदा पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया कि वह अपने पिता के साथ खेत की ओर जा रहा था तभी छह लोगों ने उन पर हमला कर दिया और उसके पिता की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि वह खुद भागने में सफल रहा। पीड़िता के बेटे ने अपनी रिपोर्ट में पुलिस को बताया कि तोती शाह शेरानी और फतेह शाह शेरानी समेत छह भाइयों ने मेरे पिता को पकड़ लिया था।

पाकिस्तान में सांप्रदायिक और जातीय हिंसा के मामले बढ़े

डॉन की खबर के मुताबिक, उसने कहा कि मुख्य आरोपी तोती शाह ने गोली चलाई थी। पीड़िता के बेटे ने आरोपी से किसी तरह की दुश्मनी से इनकार किया है। पुलिस ने इन घटनाओं के अलग-अलग मामले दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बता दें कि पाकिस्तान में सांप्रदायिक और जातीय हिंसा के मामले में बढ़ोतरी देखी गई है। सुरक्षाबलों ने बलूचिस्तान के चमन जिले में सुरक्षा बलों ने हथियार और गोला-बारूद बरामद किया है

इस बीच, सांप्रदायिक और जातीय हिंसा एक नियमित मामला बन गया है और लगातार बढ़ रहा है क्योंकि बलूचिस्तान के चमन जिले में सुरक्षा बलों ने हथियार और गोला-बारूद बरामद किया है, जियो न्यूज ने बताया।

बलूचिस्तान में मिला हथियारों और गोला-बारूद का एक जखीरा

इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (ISPR) ने एक बयान में कहा, पिछले हफ्ते, बलूचिस्तान के चमन में एक खुफिया-आधारित ऑपरेशन में सुरक्षा कर्मियों ने हथियारों और गोला-बारूद का एक बड़ा जखीरा पाया। आतंकियों के एक संदिग्ध ठिकाने की तलाश में चमन के बोघरा रोड पर आतंकियों के ठिकाने का पता लगाने के लिए ऑपरेशन चलाया गया।

समाचार रिपोर्ट के अनुसार, बलूचिस्तान नस्लीय, धार्मिक, उग्रवादी और अलगाववादी हिंसा की चपेट में रहा है, जिसे विभिन्न संगठनों का समर्थन प्राप्त है। पूरे पाकिस्तान में प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान (TTP) द्वारा किए गए हमलों में बढ़ोतरी की वजह से स्थिति और भी खराब हो गई है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.