इस्लामाबाद, आइएएनएस। कंगाली के कगार पर खड़े पाकिस्तान और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष(IMF) के बीच बातचीत होने वाली है। पाकिस्तान और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष(IMF) के बीच विस्तारित निधि सुविधा कार्यक्रम (EFF) पर चार दिवसीय वार्ता शुरू होगी। इस समीक्षा बैठक के लिए पाकिस्तान सरकार ने सभी मंत्रालयों और डिवीजनों को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के साथ पहली समीक्षा के लिए निर्धारित लक्ष्यों के कार्यान्वयन के बारे में एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा है।द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, वित्त मंत्रालय आईएमएफ समीक्षा मिशन के साथ बातचीत के लिए तैयारी करेगा।

पाकिस्तान के वित्त मंत्रालय के पत्र के अनुसार, विस्तारित फंड सुविधा कार्यक्रम (ईएफएफ) पर पाकिस्तान और आईएमएफ के बीच चार दिवसीय वार्ता सोमवार से शुरू होगी। आइएमएफ(IMF) के मध्य पूर्व और मध्य एशिया के निदेशक जिहाद अज़ूर के नेतृत्व में IMF स्टाफ मिशन सोमवार को इस्लामाबाद आएगा और 20 सितंबर को यहां से वापस रवाना होगा।आईएमएफ मिशन पाकिस्तानी अधिकारियों और अन्य संबंधित हितधारकों के साथ व्यापक आर्थिक स्थिति पर विचारों का आदान-प्रदान करेगा।

वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने द एक्सप्रेस ट्रिब्यून से कहा कि चूंकि आईएमएफ से सहमत कई शर्तों को पूरा नहीं किया जा सकता है, पाकिस्तान प्रदर्शन के मानकों पर छूट लेने की कोशिश करेगा।उम्मीद है कि 5.5 ट्रिलियन पाकिस्तानी रुपये के कर संग्रह के लक्ष्य की भी समीक्षा की जाएगी।

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप