इस्लामाबाद,एजेंसी। महंगाई की मार झेल रही पाकिस्तान की जनता को अब बिजली के लिए भी जद्दोजहद का सामना करना पड़ रहा है। सोमवार को खबर सामने आई थी कि हाईटेंशन ट्रांसमिशन लाइनों में खराबी के चलते देश के विभिन्न हिस्सों में बिजली गुल हो गई है।

बता दें कि पाकिस्तान पहले से बिजली की किल्लत और लंबी कटौती का सामना कर रहा है। सरकार बिजली बचाने के लिए बाजारों को 8 बजे ही बंद करने का आदेश जारी कर चुकी है। सोमवार को कराची और लाहौर के कई क्षेत्रों में बिजली नहीं थी। इसके अलावा क्वेटा सहित ब्लूचिस्तान के 22 जिलों में बिजली नहीं थी।

बिजली गुल होने पर पीएम शहबाज ने जताया खेद

बिजली कटौती को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने चिंता जताते हुए ट्वीट किया। ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा, 'मेरी सरकार की ओर से मैं, (कल) सोमवार को हुई बिजली आउटेज से नागरिकों को जो असुविधा हुई उसके लिए मैं खेद व्यक्त करता हूं। मेरे आदेश पर बिजली गुल होने की वजह का पता लगाने के लिए जांच चल रही है। वहीं, इस संदर्भ में जिम्मेदारी भी तय कि जाएगी।'

पाकिस्तान के कई क्षेत्रों में बिजली रही गुल

एएजे न्यूज ने सूत्रों के हवाले से बताया कि गुड्डू से क्वेटा तक ट्रांसमिशन लाइन में तकनीकी खराबी की बिजली आउटेज हुआ। सूत्रों ने खुलासा किया कि सिंध, पंजाब और इस्लामाबाद क्षेत्रों में बिजली गुल रही। सूत्रों के मुताबिक, बिजली की पूरी बहाली में अभी समय लग सकता है। पाकिस्तान में पिछले चार महीनों में यह दूसरा बिजली आउटेज है।

इस्लामाबाद, रावलपिंडी, अटक, झेलम, चकवाल और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) के कुछ हिस्सों को बिजली प्रदान करने वाली कंपनी, इस्लामाबाद विद्युत आपूर्ति कंपनी (IESCO) ने कहा कि कंपनी के 117 ग्रिड स्टेशनों को बिजली आपूर्ति निलंबित कर दी गई है।

पिछले साल अक्टूबर में पाकिस्तान ने एक बड़े बिजली संकट का सामना किया था। उस दौरान कराची और लाहौर सहित देश के बड़े हिस्सों में बिजली से 12 घंटे से अधिक समय गुल रही थी। कई इलाके अंधेरे में डूब गए थे।

यह भी पढ़ें: Pakistan: आर्थिक बदहाली से जूझ रहे पाकिस्तान के घरों में जल्द लौटेगी बिजली, पॉवर ग्रिड को किया गया ठीक

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट