इस्लामाबाद, एजेंसियां। पाकिस्तान में आज आधी रात से डीजल-पेट्रोल 30 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है। बता दें कि पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ता इस्माइल ने गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के वस्तुओं पर सब्सिडी को समाप्त करने पर जोर देने के बाद पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत में भारी बढ़ोतरी की घोषणा की है। वित्त मंत्री ने ट्वीट कर पेट्रोल-डीजल और केरोसिन तेल के दामों में हुई बढ़ोतरी की जानकारी दी है। बढ़ती महंगाई के बीच पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आई अचानक उछाल से पाकिस्तान की जनता की परेशानी बढ़ने वाली है। 

  

पाकिस्तान में अब पेट्रोल की नई कीमत 179.86 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 174.15 रुपये प्रति लीटर हो गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, कल आइएमएफ (IMF) की वार्ता विफल होने के बाद आधी रात से पेट्रोल-डीजल प्रति लीटर 30 रुपए की वृद्धि हुई है। 

6 बिलियन डालर के पैकेज से सहायता मिलना बंद ना हो

देश के वित्त मंत्री ने कहा कि तेल की कीमतों में बढ़ोतरी के पीछे सबसे बड़ी वजह है कि पाकिस्तान को 6 बिलियन डालर के बाहरी वित्त पोषण सुविधा का सहायता मिलना बंद ना हो। समाचार एजेंसी रायटर्स के मुताबिक, दोहा में मौजूद सूत्रों ने बताया कि गुरुवार को आइएमएफ और पाकिस्तान ने 900 मिलियन डालर से अधिक की धनराशि जारी करने के लिए समझौता किया था। हालांकि, इस समझौते पर मुहर लगाने के लिए पाकिस्तान को ईंधन सब्सिडी हटाना पड़ेगा और तेल कीमतें बढ़ानी होगी। पाकिस्तान सरकार ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों को इसी मद्देनजर बढ़ाया है।

संसद का संयुक्त सत्र बुलाया गया

दोहा में वार्ता समाप्त होने के बाद सूत्रों ने जानकारी देते हुए कहा, 'जब हम ईंधन की कीमतें बढ़ाएंगे, तो सौदा हो जाएगा। हमने एक सौदे की रूपरेखा तैयार कर ली है। बता दें कि पाकिस्तान की नई सरकार, जिसने अप्रैल में कार्यभार संभाला था, ईंधन की कीमतों की सीमा को हटाने के लिए अनिच्छुक रही है। गौरतलब है कि पाकिस्तान सरकार ने वार्ता के बाद आर्थिक स्थिति पर चर्चा करने के लिए गुरुवार को संसद का संयुक्त सत्र बुलाया था। बताते चलें कि 16 महीने के भीतर पाकिस्तान में आम चुनाव होने की संभावना है। इस बीच ईंधन सब्सिडी को हटाने पर राजनीतिक बहस भी छिड़ सकती है।

Edited By: Piyush Kumar