नई दिल्ली।एनएआइ। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के अध्यक्ष इमरान खान ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को इस्लामाबाद में हकीकी आजादी मार्च के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है। हकीकी आजादी मार्च, ईद मिलाद उन नबी (9 अक्टूबर) के बाद किसी भी समय पीटीआइ पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा निकाला जा सकता है।

इमरान खान ने की बैठक

बता दें कि इमरान खान ने अपने बानी गाला स्थित आवास पर बैठक की, जिसमें उन्‍होंने ने हकीकी आजादी मार्च का आह्वन किया। एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार के मुताबिक, खैबर-पख्तूनख्वा और पंजाब प्रांत के पार्टी कार्यकर्ताओं ने कहा है कि इमरान खान ईद मिलाद उन नबी के बाद किसी भी समय रैली की घोषणा कर सकते हैं। इमरान खान ने एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार के हवाले से कहा, 'इस बार पूरी तैयारी के साथ आजादी मार्च निकाला जाएगा।' इमरान खान द्वारा बुलाई गई बैठक में शाह महमूद कुरैशी, परवेज खट्टक और यास्मीन राशिद सहित वरिष्ठ नेता शामिल हुए।

डोनाल्ड ट्रंप ने सीएनएन के खिलाफ दायर किया मानहानि का मुकदमा, चैनल पर लगाया झूठे अभियान में शामिल होने का आरोप

इमरान खान क्यों कर रहे रैली

इमरान खान की पार्टी पीटीआइ देश में जल्द चुनाव कराने की मांग कर रही है, इसलिए मौजूदा सरकार के खिलाफ मौर्चा खोलने की तैयारी कर रही है। पीटीआइ प्रमुख इमरान खान ने एक बार फिर कहा कि केवल जल्दी चुनाव ही पाकिस्तान में आर्थिक और राजनितिक संकट को समाप्त कर सकता है। इमरान खान ने यह भी कहा कि अगर देश में समय से चुनाव हो जाते, तो आज आर्थिक संकट का सामना न करना पड़ता।

जल्दी चुनाव ही पाकिस्तान को बचा सकता है

इमरान खान ने दावा किया कि पाकिस्तान को मौजूदा स्थिति से बाहर लाने का एक ही तरीका है, देश में जल्‍द से जल्‍द चुनाव कराना। पंजाब के रहीमियार खान जिले में पिछले महीने एक मेगा रैली को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा कि वह समय आने पर सरकार विरोधी प्रदर्शन के लिए अंतिम आह्वान करेंगे।

N Korea Fires Missile: उत्तर कोरिया ने टोक्यो के ऊपर से दागी बैलिस्टिक मिसाइल, जापान ने लोगों को किया अलर्ट

रैली में की जाएगी लोगों की सुरक्षा

रैली में लोगों की सुरक्षा के लिए 1400 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है और एआरवाई न्यूज के अनुसार, पूरे शहर में यातायात में कोई रूकावट न आए इसके लिए भी एक योजना जारी की गई है।

गौरतलब है कि इमरान खान को अप्रैल में सत्ता से बेदखल कर दिया गया था, लेकिन वह बार-बार दावा करते आए है कि उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव एक विदेशी साजिश का पारिणम है। हालांकि, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन के सुप्रीमो नवाज शरीफ ने तय समय पर अगला आम चुनाव कराने पर सहमति जताई थी।

UK Truss Tax U-turn: दबाव में आईं ब्रिटेन की पीएम लिज ट्रस, आयकर कटौती का फैसला लिया वापस

Edited By: Nidhi Avinash

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट