कराची (पाकिस्तान), एजेंसी। पाकिस्तान में बाढ़ का कहर लगातार जारी है। बाढ़ के कारण मलेरिया, टाइफाइड और डेंगू बुखार जैसे संक्रामक रोग तेजी से पूरे क्षेत्रों में फैल रहे हैं और मृतकों की संख्या 324 तक पहुंच गई है। एक्सप्रेस ट्रिब्यून के हवाले से अधिकारियों ने बुधवार को यह बात कही।

पाकिस्तान के कई प्रांतों में रुके हुए बाढ़ के पानी ने त्वचा और आंखों में संक्रमण, दस्त, मलेरिया, टाइफाइड और डेंगू बुखार के व्यापक मामलों को जन्म दिया है, जिससे पाकिस्तान में लोगों के स्वास्थ्य को खतरा पैदा हो गया है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, सरकार, स्थानीय और विदेशी राहत संगठनों के प्रयासों के बावजूद, सरकार और मानवीय संगठनों के प्रयासों के बावजूद बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कई लोगों को भोजन और दवा की तत्काल आवश्यकता है।

एक सर्वेक्षण के अनुसार, नकदी की कमी वाले इस देश में लाखों लोगों की जान लेने वाली अभूतपूर्व प्राकृतिक आपदा के प्रति सरकार की प्रतिक्रिया से अधिकांश पाकिस्तानी लोगों ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। यह नाराजगी इस सप्ताह प्रकाशित नवीनतम पट्टन सर्वेक्षण में स्पष्ट हुई है।

डॉन अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, तीन बाढ़ प्रभावित प्रांतों के 14 जिलों के 38 आपदा प्रभावित इलाकों में समुदाय आधारित कार्यकर्ताओं द्वारा सर्वेक्षण किया गया।

सर्वेक्षण के अनुसार, अधिकांश इलाके राज्य संस्थानों के प्रदर्शन से नाखुश थे। बाढ़ के कारण 92 फीसदी स्थानों पर लोग अपने गांव और पड़ोस छोड़ने को मजबूर हो गए हैं।

छह सप्ताह की बाढ़ के बाद, 15 स्थानों के कई परिवार सड़कों पर खुले आसमान के नीचे और बिना टेंट के रहते पाए गए।

इस साल जून के बाद से, पाकिस्तान ने कठोर मानसून के मौसम का सामना किया है जिसके परिणामस्वरूप गंभीर मानवीय और विकास संकट पैदा हो गया है।

सरकारी अनुमानों के अनुसार, देश भर में लगभग 33 मिलियन लोग लगातार भारी बारिश और बाढ़ से प्रभावित हुए हैं - जो दशकों में सबसे खराब है।

लाखों एकड़ फसलें और बाग जिनमें से कई फसल के लिए तैयार हैं वो क्षतिग्रस्त और नष्ट हो गए हैं और अगले रोपण मौसम को भी खतरा है। पाकिस्तान में अधिकांश परिवारों और देश की अर्थव्यवस्था के लिए कृषि जीविका और आजीविका का एक महत्वपूर्ण स्रोत है।

पाकिस्तान में कुल 160 जिले हैं। आज तक, देश भर में इनमें से आधे को "आपदा हिट" (calamity hit) घोषित किया गया है और यह संख्या बढ़ने की उम्मीद है।

पाकिस्तान मौसम विज्ञान विभाग (पीएमडी) ने सितंबर में सिंध के दक्षिण-पूर्वी इलाकों में सामान्य से अधिक बारिश की भविष्यवाणी की है।

Edited By: Versha Singh