इस्लामाबाद, एएनआइ। इस्लामाबाद में अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी के अपहरण मामले में पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद अहमद ने अजीबोगरीब बयान दिया है। कहा है कि इस अपहरण कांड के पीछे अफगानिस्तान और भारत हैं। दोनों देश जान-बूझकर वारदात से संबंधित तथ्यों को छिपा रहे हैं और उन्हें गलत तरीके से पेश कर रहे हैं। अफगानिस्तान के विदेश मंत्री ने घटना और पाकिस्तानी मंत्री के बयान पर नाखुशी जाहिर की है।

रावलपिंडी में मीडिया से बातचीत में शेख राशिद ने कहा, राजनयिक की बेटी का अपहरण कोई आपराधिक वारदात नहीं है। वास्तव में यह पाकिस्तान को बदनाम और उसे अस्थिर करने की साजिश है। पाकिस्तान के खिलाफ ऐसी साजिशें सिलसिलेवार हो रही हैं। अफगान राजनयिक नजीबुल्ला अलीखिल की बेटी सिलसिला अलीखिल शुक्रवार को कई घंटों के लिए अगवा हो गई थीं। घटना के समय वह अपने घर लौट रही थी। जबर्दस्ती रोके जाने के दौरान अज्ञात लोगों ने सिलसिला का कई घंटे उत्पीड़न किया। शेख राशिद ने कहा कि जांच में अफगान राजदूत की बेटी का अपहरण होने का कोई सुबूत नहीं मिला है।

जियो न्यूज के मुताबिक मंत्री ने कहा है कि अफगान राजदूत के बेटी की गुमशुदगी की मामला उसके अपहरण से जुड़ा नहीं है। राजदूत की बेटी का अपहरण नहीं हुआ। उल्लेखनीय है कि शेख राशिद भारत को लेकर अजीबोगरीब बयानों के लिए जाने जाते हैं। वह लंबे समय से सरकार में मंत्री हैं और उनका भारत विरोधी रुख भी पुराना है।

जबकि पीडि़त लड़की के अनुसार शुक्रवार को वह इस्लामाबाद की एक बेकरी शॉप में गई थी। दोपहर बाद जब वह टैक्सी से वापस अपने घर लौट रही थी, तभी ड्राइवर को हटाकर एक अन्य आदमी ने टैक्सी कब्जे में ले ली और उसे अनजानी जगह पर ले गया। वहां पर उसे गालियां दी गईं और उसकी पिटाई की गई। बाद में उसे बेहोशी की दशा में सड़क के किनारे फेंक दिया गया। शेख राशिद ने कहा है कि टैक्सी को किसी अन्य व्यक्ति ने कब्जे में नहीं लिया था। अपहरण जैसी कोई वारदात नहीं हुई। अफगान और भारतीय मिलकर तथ्यों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

पाकिस्तानी मंत्री का बयान गैर पेशेवर

अफगानिस्तान के विदेश मंत्री मुहम्मद हनीफ अतमार ने पाकिस्तानी समकक्ष शाह महमूद कुरैशी से टेलीफोन पर वार्ता कर शेख राशिद के बयान पर विरोध और चिंता जताई। कहा कि राजदूत की बेटी के अपहरण मामले में पाकिस्तानी गृह मंत्री का बयान गैर पेशेवर और चिंताजनक है। इससे दोनों देशों के संबंधों और विश्वसनीयता पर असर पड़ सकता है।