इस्‍लामाबाद, एएनआइ। सीमा पर भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई से बौखलाए पाकिस्‍तान ने एक झूठा दावा किया है कि उसकी ओर से की गई फायरिंग में भारतीय सेना के नौ जवान मारे गए हैं। हालांकि, उसने कबूला है कि भारतीय सेना की कार्रवाई में उसका भी एक जवान और 6 नागरिक मारे गए हैं। पाकिस्‍तानी सेना के प्रवक्‍ता आसिफ गफूर ने ट्वीट कर कहा है कि हमने भारत के दो बंकर तबाह किए हैं। हालांकि, भारतीय सेना के कार्रवाई में पाकिस्‍तानी सेना के 10 सैनिक और 35 आतंकियों को मारे जाने की खबर है। पीओके में आतंकियों के चार लांचिंग पैड तबाह हो गए हैं। इससे पता चलता है कि पाकिस्‍तान अपने देश के लोगों को किस तरह से गुमराह करता है और किस प्रकार गलत जानकारी देता है।  

गफूर ने कहा कि भारतीय सेना ने जूरा, शाहकोट और नौसेहरी सेक्‍टर में कथित रूप से सीजफायर तोड़ा जिसमें पाकिस्‍तानी फौज का एक जवान और तीन नागरिक मारे गए। उन्‍होंने यह भी कहा है कि भारतीय फौज की कार्रवाई में उसके दो जवान और पांच नागरिक घायल हो गए हैं। दरअसल, रविवार की सुबह पाकिस्तानी सेना ने आतंकियों की घुसपैठ कराने के इरादे से सीमा पर अंधाधुंध गोलीबारी की। 

इसके जवाब में भारतीय सेना ने तंगधार सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से की गई गोलीबारी का करारा जवाब देते हुए पीओके में तगड़ा हमला बोला। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, भारतीय सेना ने तोपों से PoK(गुलाम कश्मीर) में जुरा, एयमुक्कम और कुंडलाशाही में आतंकियों के ठिकानों को निशाना बनाया। भारतीय सेना की इस कार्रवाई में 22 आतंकियों के मारे जाने की खबरें हैं। हालांकि, पाकिस्‍तान की ओर से इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।  

बताया जाता है कि भारतीय फौज ने गुलाम कश्‍मीर में मौजूद चार आतंकी पैड्स को तबाह कर दिया है। वहीं पाकिस्तान की गोलीबारी में दो भारतीय सैनिक शहीद हो गए हैं जबकि आम नागरिक की जान चली गई है। इस उकसावे वाली कार्रवाई में तीन भारतीय नागरिक भी घायल हो गए हैं। सनद रहे कि पाकिस्तान ने यह हरकत ऐसे वक्‍त में की है जब करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने का समय करीब है। वहीं भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने सीमा पर फायरिंग के मसले पर बातचीत की है। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप