इस्‍लामाबाद (एजेंसी)। पाकिस्‍तान की जांच एजेंसी एफआईए ने नेशनल असेंबली में इमरान खान की पार्टी पीटीआई के सांसद अजम स्‍वाति को गिरफ्तार कर लिया है। उन पर आरोप है कि उन्‍होंने सेना के अधिकारियों के खिलाफ सोशल मीडिया पर पोस्‍ट डाली थी। आरोप के मुताबिक स्‍वाति ने ट्विटर पर सेना के वरिष्‍ठ अधिकारियों के खिलाफ अपमानजनक धमकी भरी भाषा का इस्‍तेमाल किया था।

दो माह में दूसरी बार गिरफ्तार 

बता दें कि फेडरल इंवेस्टिगेअशन एजेंसी ने स्‍वाति को दो माह के अंदर ही दूसरी बार गिरफ्तार किया है। इससे पहले स्‍वाति को अक्‍टूबर में पूर्व दर्ज एक एफआईआर के चलते गिरफ्तार किया गया था। इस एफआईआर को प्रिवेंशन आफ इलेक्‍ट्रानिक क्राइम (PECA) के अंतर्गत दर्ज किया गया था। इस एफआईआर को जांच एजेंसी एफआईए ने साइबर क्राइम रिपोर्टिंग सेंटर के तकनीकी सहायक अनिसुर रहमान की शिकायत पर ही दर्ज किया था। उन्‍होंने ये शिकायत स्‍वाति समेत तीन अन्‍यों के खिलाफ की थी।

ये हैं आरोप 

अपनी शिकायत में उन्‍होंने इन तीनों के खिलाफ जानबूझकर सेना के अधिकारियों के खिलाफ असभ्‍य भाषा का इस्‍तेमाल करने का आरोप लगाया था। इसमें उन्‍होंने कहा कि इन तीनों ने कुछ दिनों में रिटायर होने वाले सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के खिलाफ अपशब्‍द कहे। स्‍वाति की ही बात करें तो उन्‍होंने 26 नवंबर को किए अपने ट्वीट में कहा कि वो हर फोरम पर जाकर इस मुद्दे को उठाएंगे।

ट्वीट में कही गई थी ये बातें 

19 नवंबर को @Azaadi99 नाम से शेयर किए गए एक ट्वीट में लिखा गया था कि जनरल बाजवा पर देश को बांटने और तोड़ने के लिए जिम्‍मेदार हैं। इसमें इसका जवाब देने वालों को धन्‍यवाद भी दिया था। 24 नवंबर को @Wolf1Ak नाम से किए एक ट्वीट में तब्‍दीली का जिक्र करते हुए कहा गया था कि भ्रष्‍ट जनरल से मुक्ति मिल जाएगी। इस पर भी उन्‍होंने जवाब देने वालों को धन्‍यवाद दिया था। इसी दिए @HaqeeqatTV_20 के नाम से किए गए ट्वीट में कहा गया कि जो कुछ देश में हो रहा है कि उसके लिए जनरल बाजवा और अन्‍य सीनेटर जिम्‍मेदार हैं। शिकायत में रहमान ने कहा कि है कि सोशल मीडिया के द्वारा सेना और देश के बीच में दरार लाने और विवाद उत्‍पन्‍न करने का आरोप लगाया था। 

Edited By: Kamal Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट