पेशावर, आइएएनएस। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। आर्थिक तंगी और कोविड-19 से जूझ रहे पाकिस्‍तान में इमरान के खिलाफ पूरा विपक्ष एकजुट है, लेकिन इस समय उनकी पार्टी के अंदर भी बगावती सुर दिख रहे हैं। इसका ताजा उदाहरण उनकी एक बैठक में दिखा। खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में इमरान खान की एक बैठक में उनके ही पार्टी के विधायक और सांसद नदारद रहे। इमरान खान के लिए यह चिंता का विषय हो सकता है।

पाकिस्तान में इमरान खान के खिलाफ उनकी पार्टी में भी गुस्सा बढ़ता जा रहा है। खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बैठक आयोजित की थी। इस बैठक में प्रांत के सभी सांसदों और विधायकों को आमंत्रित किया गया। बैठक में बीस सांसद और विधायकों ने भाग ही नहीं लिया। इनमें दो सांसद ऐसे हैं, जिन्हें हाल ही में मंत्रिमंडल से निकाला गया है।

इमरान खान प्रांत की राजधानी पेशावर में आए हुए थे। उनकी गवर्नर हाउस में बैठक बुलाई गई थी। बैठक से गायब होने वालों में चौदह सांसद और छह विधायक हैं। इनमें दो पूर्व केंद्रीय मंत्री सुल्तान मुहम्मद खान और लियाकत खटक भी शामिल थे। प्रांतीय मंत्री शौकत यूसुफजई का कहना था कि सभी विधायक और सांसद पार्टी के संपर्क में हैं और वे अन्य कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए पूर्व सूचना दे चुके थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप